15 लाख का झूठ या 3 लाख 60 हजार का सच : राहुल गांधी

गया। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को प्रधानमंत्री मोदी पर ताबड़तोड़ जुबानी हमले किए। उन्होंने कहा कि 2014 के चुनाव से पहले मोदी गया आए थे और 2 करोड़ लोगों को रोजगार देने का वादा किया था। हर अकाउंट में 15 लाख रुपए और बिहार को स्पेशल स्टेटस देने का वादा किया था। 5 साल हो गए बिहार के लोगों को क्या मिला? चौकीदार ने बिहार के लोगों को कुछ नहीं दिया। लोगों ने चौकीदार पर भरोसा करके गलती कर दी। राहुल गया में महागठबंधन के प्रत्याशी जीतनराम मांझी के लिए रैली करने पहुंचे थे।
राहुल गांधी ने कहा कि करीब 6 महीने पहले मैंने अर्थशास्त्रियों की टीम से बात की और पूछा कि हिंदुस्तान की अर्थव्यवस्था को नुकसान पहंचाए बिना गरीबों के खाते में कितना पैसाडाला जा सकता है। उन्होंने बताया कि 72 हजार रुपए हर साल डाले जा सकते हैं। मैं यह वादा करता हूं कि कांग्रेस की सरकार बनेगी तो हर गरीब के खाते में 5 साल में 3 लाख 60 हजार रुपए डाले जाएंगे। अब आपको तय करना है कि 15 लाख का झूठ चाहिए या 3 लाख 60 हजार का सच।
मोदी चोरों को पैसा देंगे तो राहुल गरीबों को पैसा देगा: कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि 5 साल में मोदी उद्योगपतियों के जेब में हजारों करोड़ रुपए डाल दिए। कांग्रेस का यह वादा है कि अगर नरेंद्र मोदी चोरों को पैसा देंगे तो राहुल गांधी गरीबों के खाते में पैसे डालेगा। अनिल अंबानी की तरह गरीब मेरी मार्केटिंग नहीं कर सकते, लेकिन इससे मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता। अगर उद्योगपतियों का कर्ज माफ हो सकता है तो गरीबों, किसानों और मजदूरों के खाते में भी पैसा डाला जा सकता है।
नोटबंदी की जिक्र करते हुए राहुल ने कहा कि मोदीजी ने नोटबंदी कर देश को लाइन में खड़ा कर दिया। गब्बर सिंह टैक्स से छोटे दुकानदारों की बिजनेस चौपट कर दी। इससे अर्थव्यवस्था को काफी नुकसान पहुंचा।
सच कहना बगावत है तो समझो हम भी बागी हैं: भाजपा के अलग होने के बाद शत्रुघ्न सिन्हा का दर्द एक बार फिर छलका। उन्होंने कहा कि अगर सच कहना बगावत है तो समझो हम भी बागी हैं। भाजपा पर हमला करते हुए शत्रु ने कहा कि जब लोग सच कहते हैं भाजपा उन्हें देशद्रोही कह देते हैं। हमने अगर नोटबंदी के खिलाफ आवाज उठाई तो क्या गलत किया? राहुल की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस के अध्यक्ष बनते ही उन्होंने तीन राज्यों में कांग्रेस की सरकार बनवा दी। भाजपा के अलग होने के बाद शत्रुघ्न सिन्हा ने पहली बार राहुल गांधी के साथ मंच साझा की। कांग्रेस ने शत्रुघ्न को स्टार कैंपेनर बनाया है।
राहुल ने फिर दी पीएम मोदी को चुनौती: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। भ्रष्टाचार के मुद्दे पर राहुल गांधी ने पीएम मोदी से एक बार फिर बहस करने की चुनौती दी है, इतना ही नहीं, राहुल ने पीएम मोदी से सवाल भी किया है कि क्या उन्हें उनसे बहस करने में डर लगता है। राहुल गांधी ने ट्वीट कर पीएम मोदी को चुनौती दी है। राफेल, अनिल अंबानी, नीरव मोदी, अमित शाह और नोटबंदी जैसे मुद्दों पर पीएम मोदी को बहस करने के लिए कहा है, इससे पहले राहुल गांधी ने इससे पहले बीजेपी के घोषणा पत्र को बंद कमरे में तैयार किया गया बताया, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को राफेल, नोटबंदी और नीरव मोदी के मामलों पर सीधी बहस की चुनौती देते हुए मंगलवार को कहा कि वह इन विषयों पर पूर्ण तैयारी करके मेरे साथ बहस करने आएं।