लोग मुझे गिराने में कई बार गिरे: मोदी

प्रतापगढ़/बस्ती/ वाल्मीकिनगर, 4 मई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को सबसे पहले उत्तरप्रदेश के प्रतापगढ़ में रैली की। उन्होंने कहा कि नामदार (राहुल गांधी) ने मेरी छवि खराब करने का लक्ष्य रखा है। लेकिन में उनसे कहना चाहता हूं कि न मैं गिरा और न मेरी उम्मीदों के मीनार गिरे, पर कुछ लोग मुझे गिराने में कई बार गिरे। नामदार के पिता का जीवन तो भ्रष्टाचारी नंबर-1 के रूप में समाप्त हुआ। यह देश धोखेबाजों को कभी माफ नहीं करता। प्रधानमंत्री ने पंजे के पांच खतरे भी गिनाए। मोदी ने कहा, पहले कांग्रेस के नामदार कहते थे कि वे मोदी के प्रभाव और औरा से डरते हैं। अब खुलकर कहने लगे हैं कि वो मोदी से तब तक नहीं जीत सकते,जब तक उनकी मेहनत, ईमानदारी और देश भक्ति पर दाग न लगाएं। पिछले तीन साल से झूठ पर झूठ बोला जा रहा है। रोज मोदी पर कीचड़ उछाला जाता है उसका मकसद क्या है। इसे कांग्रेस अध्यक्ष ने खुद इंटरव्यू में स्वीकार कर लिया। उन्होंने एक झूठ का पुलिंदा बना दिया और राफेल नाम दिया। मोदी के खिलाफ पूरे अभियान का एक ही लक्ष्य है- छवि खराब करना।
मैं भारत माता के लिए जिया और तपा हूं: प्रधानमंत्री ने कहा, नामदार सुन लो मोदी सोने की चम्मच लेकर पैदा नहीं हुआ, बल्कि भारत मां की धूल फांककर बड़ा हुआ है। यह मोदी पांच दशक तक भारत माता के लिए जिया और तपा है। पांच मिनट के इंटरव्यू से पांच दशक की मोदी की तपस्या को धूल में नहीं मिला सकते। आपके पिताजी को रागदरबारियों ने मिस्टर क्लीन बना दिया था। लेकिन देखते ही देखते भ्रष्टाचारी नंबर-1 के रूप में उनका जीवन समाप्त हुआ। यह देश गलतियां माफ करता है, लेकिन धोखेबाजी को नहीं।
मोदी ने पंजे के पांच खतरे बताए: मोदी ने कहा, मजबूत सरकार के संकल्प पर लोगों को अडिग रहना है। मजबूरी और अवसरवाद की इस महामिलावट का पंजा बहुत खतरनाक है। यह पंजा जब भी सत्ता में आता है तो देश को इसका नुकसान ऐसा उठाना पड़ता है, जिसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती। पंजे के 5 भयानक खतरे हैं। पहला- भ्रष्टाचार, दूसरा- अस्थिरता, तीसरा- जातिवाद, चौथा- वंशवाद, पांचवा- कुशासन। जहां भ्रष्टाचार होगा वहां महामिलावटी होंगे।
सपा ने गठबंधन में बहनजी को धोखा दिया: मोदी ने दावा किया- सपा ने बहनजी को धोखे में रखा और गठबंधन कर मायावती का फायदा उठा लिया। यह बात उन्हें भी समझ नहीं आ रही। यह वंशवादी लोग ऐसे हैं जिनका झूठ कभी न कभी सामने आ ही जाता है। इसके लिए सबूत खोजने की जरूरत नहीं पड़ती। जो पार्टी पहले चरण के मतदान से खुद को प्रधानमंत्री पद की दावेदार बता रही है, वो मानने लगी है कि हम यूपी में सिर्फ वोट काटने के लिए लड़ रहे हैं। हम वोटकटुआ हैं। कांग्रेस का कितना पतन हो चुका है, यह इसका जीता जागता सबूत है। वोट काटना, देश तोडऩा, कैबिनेट का अध्यादेश फाडऩा यही कांग्रेस है।

राहुल-अखिलेश और मायावती पर तंज
मोदी ने कहा, कांग्रेस के नामदार किसानों की जमीन को ट्रस्ट के नाम पर कब्जा करते हैं और फिर उसको हड़प लेते हैं। किसानों से जमीन लेते हैं फैक्ट्री के नाम पर उस पर अपने लिए नोटों की खेती करते हैं। अमेठी में तो यही हुआ था। बसपा वालों ने तो ताजमहल तक का सौदा कर दिया और वहीं, सपा वालों ने तो नल की टोंटियों तक को भी नहीं छोड़ा।