मध्यप्रदेश में रिकार्ड तोड़ 75.51 प्रतिशत मतदान


अंतिम चरण में 8 सीटों पर शांतिपूर्ण ढंग से हुआ मतदान

भोपाल, 19 मई । मध्यप्रदेश में आज इंदौर समेत आठ संसदीय क्षेत्रों में एक करोड़ 49 लाख से अधिक मतदाताओं में से 75.51 फीसदी मतदाताओं ने वोट डालकर प्रमुख हस्तियों समेत 82 प्रत्याशियों की किस्मत इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन में कैद कर दी।
राज्य के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय के अनुसार मतदान सुबह सात बजे शुरू होकर शाम छह बजे तक शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हो गया। इस दौरान देवास में 79.46 प्रतिशत, उज्जैन में 74.93 प्रतिशत, मंदसौर में 77.74 प्रतिशत, रतलाम में 75.19, धार में 74.74, इंदौर में 69.56, खरगोन में 77.51 प्रतिशत और खंडवा में 76.80 फीसदी मतदान हुआ है। मतदान 18 हजार से अधिक मतदान केंद्रों पर 81 हजार से अधिक मतदान कर्मचारियों की देखरेख में संपन्न हुआ।
खंडवा सीट पर भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और मौजूदा सांसद नंदकुमार सिंह चौहान का मुकाबला कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण यादव से है। मंदसौर सीट पर कांग्रेस की केंद्रीय राजनीति में सक्रिय युवा नेता मीनाक्षी नटराजन चुनावी रण में हैं, जिनके सामने भाजपा के मौजूदा सांसद सुधीर गुप्ता एक बार फिर अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। रतलाम सीट भी पूर्व केंद्रीय मंत्री और सांसद कांतिलाल भूरिया के फिर मैदान में उतरने से चर्चाओं में है। उनका मुकाबला भाजपा के गुमान सिंह डामोर से हो रहा है। इंदौर सीट इस बार यहां से आठ बार सांसद रह चुकीं लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन के चुनावी मैदान में नहीं होने के बावजूद हाईप्रोफाइल बनी हुई है। भाजपा की गढ़ इस सीट पर इस बार पार्टी के शंकर लालवानी कांग्रेस के पंकज संघवी को चुनौती दे रहे हैं। नजदीकी धार सीट पर कांग्रेस के दिनेश गिरवाल और भाजपा के छतर सिंह के बीच कड़ा मुकाबला बना हुआ है। देवास में भाजपा ने जज रह चुके महेंद्र सोलंकी को अपना प्रत्याशी बनाया है। सोलंकी कांग्रेस के प्रहलाद टिपानिया का सामना कर रहे हैं। टिपानिया प्रख्यात लोक कलाकार और पद्मश्री पुरस्कार प्राप्त हैं। देवास से ही सटी उज्जैन सीट पर भी भाजपा ने नया चेहरा उतारते हुए पूर्व विधायक अनिल फिरोजिया पर भरोसा जताया है। उनके सामने चुनावी दंगल में कांग्रेस के बाबूलाल मालवीय हैं। खरगोन सीट पर भाजपा के गजेंद्र पटेल कांग्रेस के डॉ. गोविंद मुजाल्दे को चुनौती दे रहे हैं। मध्यप्रदेश में कुल 29 लोकसभा सीट हैं। 21 सीटों पर राज्य में तीन चरणों में क्रमश: 29 अप्रैल को छह, छह मई को सात और 12 मई को आठ सीटों पर मतदान हो चुका है। शेष आठ सीटों पर मतदान आज हुआ। सभी सीटों के नतीजे 23 मई को आएंगे। वर्तमान में 29 में से 26 भाजपा के पास और तीन सीटें कांग्रेस के कब्जे में हैं।