कड़ी सुरक्षा में मतगणना आज, कलेक्टर ने लिया जायजा


15 हजार कर्मचारी और नौ हजार सुरक्षाकर्मी तैनात, मोबाइल, कैमरा, इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस आदि रहेंगे प्रतिबंधित

भोपाल, 22 मई। लोकसभा चुनाव की वोटिंग निपटने के बाद अब चुनाव आयोग और पुलिस प्रशासन काउंटिंग को लेकर मतगणना से पहले ही अपनी पूरी तैयारी कर ली है।.मतदान की तरह मतगणना भी शांति से निपट जाए, इसके लिए व्यापक इंतज़ाम किए गये हैं। वोटिंग के बाद काउंटिंग की सुरक्षा व्यवस्था भी जिला प्रशासन एवं पुलिस के लिये बड़ी चुनौती है, इसी चुनौती से निपटने के लिए पुलिस ने जिला मुख्यालय पर बने काउंटिंग सेंटर से लेकर बाहरी सुरक्षा पर खास ध्यान रखा है।
कलेक्टर सुदाम खाड़े एवं पुलिस के आला अफसरों ने संवेदनशील स्थानों को चिन्हित कर लिया है, ओर संवेदनशील स्थानों की पहचान कर अतिरिक्त फोर्स तैनात किया गया है। इसके साथ ही किसी भी हालात से निपटने के लिए पुलिस पैरामिलिट्री फोर्स की मदद भी ले रही है। मतगणना से एक दिन पहले बुधवार को भोपाल कलेक्टर सुदाम खाड़े मतगणना स्थल वयवस्था का जायजा लेने पहुंचे। इस दोरान भोपाल कलेक्टर ने कहा कि गुरुवार सुबह 6 बजे से यहां पर एंट्री ओर काउंटिंग चालू हो जाएगी और उसके बाद किसी को प्रवेश नहीं मिलेगा। उन्होने आगे कहा की सिर्फ काउंटिंग एजेंट इलेक्शन के जिम्मेदार लोग कैन्डीडेट द्वारा दर्शाए गए मतगणना एजेंट एवं उन अधिकारियों की, जिनकी ड्यूटी लगी हुई है, काउंटिंग में वही अंदर आ सकते हे, इसके अलावा किसी को भी भीतर प्रवेश नहीं दिया जाएगा। कलेक्टर ने आगे बताया की मोबाइल मतगणना स्थल पर प्रतिबंधित रहेगा, साथ ही किसी भी प्रकार की विस्फोटक सामग्री एवं हथियार भी प्रतिबंधित रहेंगे। उन्होने आगे कहा की सबसे कम 19 राउंड रहेंगे ओर अधिक 28 राउंड रहेंगे। जानकारी के अनुसार मतगणना के दौरान काउंटिंग सेंटर पर थ्री लेयर सुरक्षा व्यवस्था के इंतेजाम किये गये है। इसके चलते यहॉ काउंटिंग सेंटर के बाहरी क्षेत्र में हर एक किलोमीटर पर पुलिस जवान तैनात रहेगा वही थाना स्तर पर पुलिस की पेट्रोलिंग भी लगातार जारी रहेगी, ओर संवेदनशील इलाकों में पैरामिलिट्री फोर्स तैनात किये जाने के साथ ही विजय जुलूसों के लिए सुरक्षा घेरा बनाया जायेगा। पुलिस मुख्यालय से मिली जानकारी के अनुसार ग्वालियर चंबल संभाग में अतिरिक्त फोर्स की तैनाती की गई है। वही भोपाल में चिन्हित स्थानों पर पैरामिलिट्री फोर्स तैनात रहेगी। इसके साथ ही मुख्य पार्टी के मुख्यालय पर भी पर्याप्त पुलिस बल तैनात रहेगा। सुरक्षा वयवस्था के लिये टीमे शहर में लगे सीसीटीवी कैमरों से सुरक्षा पर नजऱ रखेगी ओर जिला मुख्यालय के साथ पुलिस मुख्यालय से सुरक्षा व्यवस्था की निगरानी की जायेगी। बताया गया है की काउंटिंग के दौरान चप्पे-चप्पे पर पुलिस तैनात रहेगी. सीधे पुलिस मुख्यालय व्यवस्था पर नजऱ रखकर मॉनिटरिंग करेगा। जानकारी के अनुसार मतगणना के लिए 15 हजार कर्मचारी लगाए गए हैं और नौ हजार सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं। गणना स्थल पर मोबाइल, कैमरा, इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस आदि प्रतिबंधित रहेंगी।