9 साल की नाबालिग की दुष्कर्म के बाद हत्या

नाले में मिला शव, उमड़ा जन आक्रोश, 6 पुलिसकर्मी सस्पेंड
भोपाल, 9 जून।
कमला नगर इलाके में रविवार को 9 साल की बच्ची का शव नाले में मिला। शॉर्ट पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में दुष्कर्म के बाद बच्ची का गला दबाकर हत्या करने की बात सामने आई है। बच्ची शनिवार रात घर के करीब से लापता हुई थी। एक एएसआई, एक हवलदार और चार सिपाहियों को निलंबित किया गया है। सांसद प्रज्ञा ठाकुर और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह पत्नी अमृता के साथ पीडि़त परिवार को सांत्वना देने उनके घर पहुंचे।
प्रदेश के गृह मंत्री बाला बच्चन के मुताबिक एक संदिग्ध आरोपी की पहचान की गई है। वह पीडि़त परिवार के घर के पास ही रहता है। उसके परिवार के सदस्यों को हिरासत में लिया गया। पुलिस को आरोपी की लोकेशन पता चली है। उसकी गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं। बच्ची की खोज में पुलिस की 20 टीम लगाई गई थीं। लेकिन, अफसोस है कि हम बच्ची को बचा नहीं पाए। घटना की सूचना मिलने पर जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा भी अस्पताल पहुंचे। उन्होंने कहा कि पुलिस अगर सही तरीके से काम करती तो बच्ची की जान बचाई जा सकती थी।
नाबालिग बच्ची की हत्या के दोषियों को दिलवाएंगे कड़ी सजा: पीसी शर्मा
विधि-विधायी कार्य एवं जनसम्पर्क मंत्री पी.सी. शर्मा ने नेहरू नगर की मांडवा बस्ती की नाबालिग बच्ची के साथ दुष्कर्म और हत्या की कड़ी निंदा की है। उन्होंने कहा कि नाबालिग के विरूद्ध अपराध करने के दोषियों को किसी भी हालत में बख्शा नहीं जायेगा। उन्हें कड़ी से कड़ी सजा दिलवायेंगे।
मंत्री शर्मा ने पुलिस को सख्त निर्देश दिये हैं कि ऐसे मामले में तुरंत कठोर कार्रवाई करें। लापरवाही बरतने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ तुरंत कड़ी कार्यवाही की जाए। दुष्कर्मियों को फास्ट ट्रैक कोर्ट से फाँसी की सजा दिलवाने के लिये तत्परतापूर्वक कार्यवाही की जाये, जिससे इस तरह के मामलों पर पूरी तरह अंकुश लगाया जा सके। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह, जनसम्पर्क मंत्री शर्मा और अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री आरिफ अकील दिवंगत नाबालिग बच्ची की अंतिम यात्रा में शामिल हुए और उसे कांधा देकर अंतिम विदाई दी। इस मौके पर पार्षद मोनू सक्सेना और गणमान्य नागरिक सहित बड़ी संख्या में स्थानीय रहवासी मौजूद रहे।

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने पुलिस को सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए
मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भोपाल के नेहरू नगर के पास मांडवी बस्ती में एक मासूम के साथ दुष्कर्म और हत्या की घटना को गंभीरता से लेते हुए आज कहा कि ऐसी घटनाएं दु:खद और आहत करने वाली हैं। कमलनाथ ने पुलिस-प्रशासन को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि दोषियों को शीघ्रता से सजा दिलवाने के प्रयास किए जाएं। किसी भी आरोपी को बख्शा नहीं जाए। ऐसी घटनाएं दु:खद और आहत करने वाली हैं। उन्होंने कहा कि बहन-बेटियों की सुरक्षा के लिए आवश्यक कदम उठाए गए हैं और ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति नहीं हो, इसको लेकर भी कदम उठाए जाएंगे। कमलनाथ ने कहा कि सरकार पीडि़त परिवार के साथ है और उसे न्याय दिलाया जाएगा। सरकार परिवार के साथ सरकार खड़ी है और उसे हरसंभव मदद करायी जाएगी।