अतिरिक्त मुख्य सचिव गोपाल रेड्डी पर्दे के पीछे राजनीति करने वाले किसी भी मुख्य अभियंता को नहीं छोड़ेंगे…

मध्यप्रदेश में एम. गोपाल रेड्डी (1985) उन नौकरशाहों में से हैं, जो किसी भी कर्मचारी या अधिकारी को जानबूझकर सजा नहीं देते। लेकिन जब कोई पर्दे के पीछे राजनीति करता है तो वे आग बबूला हो जाते हैं। इसी के चलते जल संसाधन विभाग में एक मुख्य अभियंता के विरुद्ध घोर लापरवाही एवं गड़बडिय़ों के कारण शासन के खजाने को लाखों की वित्तीय हानि हुई है। उपरोक्त मुख्य अभियंता के खिलाफ मध्यम अभिकरण ने सूचित किया है कि यह मुख्य अभियंता जांच के घेरे में है और मैदानी पदस्थापना के लिए संपूर्ण रूप से अयोग्य है। कहा जाता है कि उपरोक्त मुख्य अभियंता अब पर्दे के पीछे से राजनीति भी कर रहे हैं, जिसकी भनक अतिरिक्त मुख्य सचिव एम. गोपाल रेड्डी को लग चुकी है और अब इस मुख्य अभियंता की खैर नहीं। उल्लेखनीय है कि यह वाक्या रज्जन रोहित मुख्य अभियंता डब्ल्यूआरडी से ही संबंधित है, जिन्होंने समोहा पिकअप वियर में भयंकर गड़बड़ी की है। -खबरची