थावरचंद गेहलोत बने राज्यसभा में सदन के नेता

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी ने केंद्रीय मंत्री और मध्यप्रदेश से राज्य सभा के सांसद थावरचंद गेहलोत का कद बढ़ा दिया है। गेहलोत अब राज्यसभा में सदन के नेता की कुर्सी पर बैठेंगे। इसके पहले यह जिम्मा अरुण जेटली को मिला था। वैसे भी थावरचंद गेहलोत को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का करीबी माना जाता है। संगठन में रहते हुए उन्होंने पार्टी के काम को विस्तार दिया और भाजपा के बड़े दलित चेहरे के रूप में उनकी पहचान है। गेहलोत मोदी मंत्रिमंडल की दूसरी पारी में उन गिने-चुने नेताओं में शुमार हैं, जिनका विभाग नहीं बदला गया है। ट्रिपल तलाक और सवर्ण आरक्षण जैसे बड़े फ्लैगशिप कार्यक्रमों का नेतृत्व सामजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री के रूप में गेहलोत ने ही किया। जाहिर है, राज्यसभा में सदन के नेता बनने पर उनका पार्टी और मध्यप्रदेश में कद और बढ़ जाएगा।