ममता बनर्जी मेरा फोन नहीं उठा रही :राज्यपाल


कोलकाता ,14 जून। पश्चिम बंगाल में जारी डॉक्टरों की हड़ताल के चलते अस्पतालों की स्थिति अस्त-व्यस्त हो गई है। डॉक्टर अपनी शर्तों के माने जाने पर ही हड़ताल वापस लेने की बात कह रहे हैं। इस बीच राज्यपाल केसरी नाथ त्रिपाठी ने कहा है कि उन्होंने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को फोन किया लेकिन उनकी ओर से कोई जवाब नहीं मिला। त्रिपाठी ने कहा कि उन्होंने ममता बनर्जी को बुलावा भी भेजा है। गौरतलब है कि हड़ताल पर गए डॉक्टर इस बात पर अड़े हैं कि ममता बनर्जी माफी मांगें। राज्यपाल केसरी नाथ त्रिपाठी ने शुक्रवार को कहा, मैं मुख्यमंत्री से संपर्क करने की कोशिश की। मैंने उन्हें फोन भी किया लेकिन अभी तक उनकी तरफ से कोई जवाब नहीं मिला। अगर वह मुझे फोन करती हैं तो हम इस मुद्दे पर चर्चा करेंगे। मैंने उन्हें बुलाया है, उन्हें आने दीजिए।
वहीं, दूसरी ओर हड़ताल कर रहे डॉक्टरों ने काम पर लौटने के लिए 6 शर्तें रखी हैं, जिनमें ममता बनर्जी की माफी भी शामिल है। पश्चिम बंगाल में 4 दिन से हड़ताल कर रहे डॉक्टर्स ने कहा, हम सीएम ममता बनर्जी से उनके गुरुवार के भाषण के लिए बिना शर्त माफी चाहते हैं। वहीं इंडियन मेडिकल कॉलेज ने भी गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर डॉक्टरों की सुरक्षा के लिए कानून बनाने की मांग की है। डॉक्टर्स की शर्तों में एक मांग यह भी है कि सीएम को हॉस्पिटल आकर घायल डॉक्टरों से मिलना होगा और उनके दफ्तर को हमले की निंदा करनी होगी। डॉक्टर अरिंदम दत्ता ने कहा, हम सीएम से इस मामले की जांच चाहते हैं। डॉक्टरों ने हमला करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की कागजाती सबूत की भी मांग की गई है। इसके अलावा पूरे राज्य में जूनियर डॉक्टरों और मेडिकल स्टूडेंट के खिलाफ झूठे केस और आरोप वापस लेने की भी शर्त रखी गई है।