पुलिस मुख्यालय में दो गुट, इसलिए…

मध्यप्रदेश की राजधानी का पुलिस मुख्यालय और राज्य सचिवालय अर्थात वल्लभ भवन हमेशा से ही दो गुटों में बंटा रहता है। मलाईदार पदों एवं महत्वपूर्ण विभागों की जिम्मेदारी सचिवालय में मुख्य सचिव तय करते हैं और पुलिस मुख्यालय में पुलिस महानिदेशक। सूत्रों के अनुसार मुख्य सचिव एसआर मोहंती ने 85 प्रतिशत गुटबाजी समाप्त कर दी है। लेकिन पुलिस मुख्यालय अभी भी फिफ्टी-फिफ्टी के दौर से गुजर रहा है। पुलिस महानिदेशक स्तर के एक वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी का मानना है कि पुराने डीजी साहब अर्थात ऋषि शुक्ला की टीम को किनारे कर दिया गया है और अब वीके सिंह की टीम पूरी तरह हावी है। उक्त अधिकारी ने तो यहां तक कहा कि पुलिस मुख्यालय में भी गुटबाजी खत्म होनी चाहिए, वरना कानून और व्यवस्था का यह महकमा आम जनता के साथ न्याय नहीं कर सकता इसलिए उनका कहना है कि गुट हों लेकिन कामों का बंटवारा क्षमताओं के आधार पर ही होना चाहिए। और यह बात मुख्यमंत्री जी को भी पता है। … खबरची