कौन कहता है आसमान में छेद नहीं होता…. करके दिखाया एक आईपीएस अधिकारी ने

मध्यप्रदेश पुलिस मुख्यालय में इन दिनों सत्ता के शिखर से नजदीकी बढ़ाने का मैराथन चल रहा है। कोई डीजी बनना चाहता है तो कोई पुलिस हाउसिंग कारपोरेशन का अध्यक्ष और इसके आगे जिसको सिर्फ मलाई ही खाना है, वह एन-केन प्रकारेण परिवहन आयुक्त की कुर्सी पर बैठना चाहता है। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक स्तर के एक आईपीएस अधिकारी का मानना है कि उनके लिए किसी शायर का यह शेर गीता और बाइबल है, जिसमें लिखा गया है कि ‘कौन कहता है आसमान में छेद नहीं होता…. एक पत्थर तो तबियत से उछालो यारोÓ। सूत्र बताते हैं कि उक्त आईपीएस अधिकारी का नाम अब आजकल में तय होने वाले परिवहन आयुक्त पद के लिए नंबर वन है। उल्लेखनीय है कि यह वाक्या अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक वी. संजय माने (1989) अथवा मधुकुमार (1991) को लेकर नहीं लिखा गया है।
…. खबरची