कलेक्टर की दिक्कत नई गौशालाएं कैसे बनें


मध्यप्रदेश के एक बड़े जिले के कलेक्टर को विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव ने मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा हर जिले में नई गौशालाओं के निर्माण की प्राथमिकता को अमल में लाने का निर्देश दिया है। उक्त कलेक्टर का कहना है गौशालाएं तो पहले से ही चल रही थीं, अब नई गौशालाओं के लिए बजट का प्रावधान कब होगा और कैसे होगा, इसका अभी पता ही नहीं चला है। उक्त कलेक्टर का कहना है कि गौशालाएं चाहे जितनी भी बनवा ली जाएं, मध्य प्रदेश में जब तक अमेरिका जैसा कानून नहीं बनेगा, तब तक गाय सड़कों पर जुगाली करती ही रहेंगी। उन्होंने अपने दोस्तों से कहा देखो भाई गौशालाएं तो हैं, नई और बनानी हैं तो जमीन ढूंढ लीजिए। निर्धारित मापदंड के आधार पर यदि आपके पास 30000 वर्ग फीट जमीन होगी तो आपको एक गौशाला मिल जाएगी, आप चाहें तो उसमें व्यापार भी कर सकते हैं। हमें कोई दिक्कत नहीं है। लेकिन नई गौशाला बनाने में दिक्कत तो है। उल्लेखनीय है कि यह वाक्या जबलपुर जिले के कलेक्टर को लेकर नहीं लिखा गया है, जहां सड़कों पर गाय आम बात है।
…. खबरची