मोदी की उच्चाधिकार समिति में कमलनाथ बने सदस्य


केंद्र में फिर एक बार मध्यप्रदेश का बढ़ा महत्व
नई दिल्ली, ब्यूरो, 3 जुलाई।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता वाली कमेटी में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ को भी शामिल किया गया है। जिससे एक बार मध्यप्रदेश का राष्ट्रीय स्तर पर कद बढ़ा है। मुख्यमंत्री कमलनाथ को केंद्र सरकार द्वारा कृषि सुधारों के लिए गठित उच्चाधिकार समिति का सदस्य बनाया गया है। केंद्र सरकार की तरफ से बनाई गई इस समिति की अध्यक्षता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे। सदस्य बनाए जाने पर कांग्रेसियों ने कमलनाथ को बधाई भी दी है। हालांकि इस उच्चाधिकार वाली समिति में अन्य 6 राज्यों के मुख्यमंत्रियों को भी शामिल किया गया है। दरअसल, किसानों की स्थिति में सुधार लाने के लिए प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में एक उच्चाधिकार समिति का गठन किया गया है। इस समिति में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ को भी जगह दी गई है। सीएम कमलनाथ को इस समिति में सदस्य बनाया गया है। वे समिति की समय-समय पर होने वाली बैठकों में कृषि का उत्पादन बढ़ाने की दिशा में क्या-क्या सुधार किए जा सकते हैं, समिति को अपने सुझाव देंगे। इसके अलावा इस 9 सदस्यीय समिति में केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और नीति आयोग के सदस्य सचिव प्रो. रमेशचंद्र भी हैं। सीएम देवेंद्र फडणवीस-महाराष्ट्र, मनोहर लाल खट्टर-हरियाणा, पेमा खांडू-अरुणाचल प्रदेश, विजय रूपाणी-गुजरात, योगी आदित्यनाथ-उत्तर प्रदेश और कर्नाटक से मुख्यमंत्री एचडी कुमार स्वामी को भी शामिल किया है।

समिति यह करेगी अनुशंसा
ठ्ठ कृषि व्यवसाय में निजी निवेशकों को आकर्षित करना।
ठ्ठ ई-नाम, ग्राम और अन्य केंद्र संचालित योजनाओं को बाजार से जोडऩे के लिए मैकेनिज्म तैयार करना।
ठ्ठ कृषि निर्यात को बढ़ावा देने के लिए नीति सुझाना।
ठ्ठ फूड प्रोसेसिंग के क्षेत्र में विस्तार की संभावनाएं तलाशना। इसमें आधुनिक बाजार, अधोसंरचना और लॉजिस्टिक श्रृंखला में निवेश के लिए उपाय सुझाना।
ठ्ठ वैश्विक मानक स्तर की कृषि तकनीकि को लागू करवाना।