परिवहन आयुक्त का फैसला लटका…


मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ पशोपेश में हैं कि गत चार वर्षों से लगातार पदस्थ परिवहन आयुक्त डॉ. शैलेंद्र श्रीवास्तव के स्थान पर किसे नया परिवहन आयुक्त बनाया जाए। सूत्रों के अनुसार डॉ. शैलेंद्र श्रीवास्तव डीजी बनना चाहते थे, लेकिन डीजी व्हीं के सिंह दिग्विजय सिंह के गहरे शुभचिंतक निकल गए अब शैलेंद्र श्रीवास्तव से कहा गया है कि अभी आप बने रहिए। एक अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक लंबे समय से परिवहन आयुक्त बनने का ख्वाब संजोए बैठे हैं, बेचारे कहने लगे सुई का छेद इतना बारीक है कि धागा घुस ही नहीं रहा है तो क्या किया जाए। वे आगे कहते हैं फैसला तो लटका है, अटका है कोई मेरा गॉड फादर नहीं है जो आदेश करा दे वरना मुख्यमंत्री जी तो मुझे अच्छी तरह जानते हैं। उल्लेखनीय है यह वाक्या अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक संजय माने को लेकर नहीं लिखा गया है। … खबरची