मनमोहन सिंह राजस्थान से होंगे राज्यसभा सदस्य

जयपुर। पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह राजस्थान से राज्यसभा सदस्य बनेंगे। कांग्रेस फोरम में उनका नाम लगभग तय हो चुका है। निर्वाचन आयोग की ओर से चुनाव की तिथि तय करने के बाद पार्टी की ओर से सिंह के नाम का अधिकारिक तौर पर ऐलान किया जाएगा। मनमोहन का राज्यसभा का कार्यकाल पूरा हो चुका है। इस बीच, रविवार को मनमोहन सिंह का जयपुर आने का कार्यक्रम है। बताया जा रहा है कि राजस्थान विधानसभा में विधायकों के प्रशिक्षण शिविर के जरिए उनका सभी से औपचारिक परिचय भी कराया जाएगा। इसी बहाने वे कांग्रेस, बसपा, भारतीय ट्राइबल पार्टी (बीटीपी) और निर्दलीय विधायकों से मुलाकात भी कर लेंगे।
मदनलाल सैनी के निधन के बाद सीट खाली हुई है: भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष और राज्यसभा सांसद मदनलाल सैनी के निधन के बाद राजस्थान में राज्यसभा की एक सीट खाली हुई है। इस सीट से अब कांग्रेस पूर्व प्रधानमंत्री को राज्यसभा भेजने जा रही है। राजस्थान विधानसभा में विधायकों की संख्या बल के लिहाज से भाजपा पर कांग्रेस भारी है।
सिंह को राज्यसभा जाने में नहीं आएगी अड़चन: कांग्रेस के पास अपने 100 विधायकों के अलावा निर्दलीय, बसपा, बीटीपी का भी समर्थन हासिल है। ऐसे में मनमोहन सिंह को राजस्थान से राज्यसभा भेजने में कोई अड़चन नहीं आएगी। भाजपा के पास फिलहाल केवल 72 विधायक ही हैं। फिलहाल, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह किसी सदन के सदस्य नहीं हैं। हाल ही में राज्यसभा में उनका कार्यकाल पूरा हुआ है।
तमिलनाडु में डीएमके से बात नहीं बनने पर राजस्थान चुना: सूत्रों की मानें तो कांग्रेस पहले उन्हें तमिलनाडु से राज्यसभा सदस्य बनाना चाहती थी, लेकिन डीएमके से पार्टी की बात नहीं बन पाई। ऐसे में मनमोहन सिंह के लिए राजस्थान से राज्यसभा सीट सबसे सुरक्षित मानी जा रही है। राजस्थान के अलावा किसी दूसरे राज्य में राज्यसभा की सीट खाली नहीं हो रही है। मनमोहन सिंह का राज्यसभा में कार्यकाल 14 जून को खत्म हो गया है। वह असम से लगातार पांच बार राज्यसभा सांसद रह चुके हैं।