और सस्ते हो सकते हैं कर्ज: शक्तिकांत दास

नई दिल्ली, 8 जुलाई। आने वाले दिनों में कर्ज लेना और सस्ता हो सकता है। आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने यह संकेत दिया है। सोमवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के साथ बजटीय प्रावधानों पर हुई बैठक के बाद दास ने कहा, आने वाले दिनों में नीतिगत ब्याज दरों में और कटौती की उम्मीद है। इसके दो कारण हैं। पहला- आरबीआई ने गैर बैंकिंग वित्तीय कंपनियों की फंड की कमी को दूर करने के लिए काफी कुछ किया है और अब पूरे बैंकिंग सेक्टर में कर्ज देने के लिए पर्याप्त फंड है। दूसरा- आरबीआई की तरफ से रेपो रेट घटाने का फायदा तेजी से बैंक ग्राहकों को देने लगे हैं। बता दें, रेपो रेट की वह दर से जिसके आधार पर होम लोन, आटो लोन आदि की दरें तय होती हैं। अपने बयान में दास ने बैंकों से आग्रह किया कि जिन्होंने दरों में पिछली कटौतियों का फायदा अब तक ग्राहकों तक नहीं पहुंचाया है, वे जल्द ब्याज दरों में क्षमतानुसार कटौती करें। पहले आरबीआई की तरफ से रेपो रेट में कटौती का असर बाजार पर 6 माह में दिखाई देता था। लेकिन अब यह असर 2 से 3 माह में दिखाई देने लगा है। वैसे, पिछली दो समीक्षाओं (अप्रैल व जून) को मिलाकर 50 आधार अंकों की कटौती की गई है जबकि बैंकों ने 20 आधार अंकों तक की ही कटौती की है। अब उम्मीद है कि ग्राहकों को कर्ज कटौती करने में बैंक और ज्यादा तेजी दिखाएंगे।