शिंदे या सिंधिया

कांग्रेस का अगला अध्यक्ष कौन…?
नई दिल्ली, ब्यूरो, 8 जुलाई। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के इस्तीफे के बाद अंतरिम अध्यक्ष के रूप में वयोवृद्ध नेता मोतीलाल वोरा अघोषित रूप से काम कर रहे हैं। राष्ट्रीय हिन्दी मेल ने जब उनसे सवाल किया कि कांग्रेस अध्यक्ष की जिम्मेदारी यदि आपको दी जाए तो कांग्रेस का भविष्य कैसा होगा? इस सवाल के जवाब में मोतीलाल वोरा ने कहा कि कांग्रेस में राहुल गांधी के अध्यक्ष बनने के बाद युवाओं का जोश बढ़ा है और इसे कायम रखने के लिए हमारे जैसे बुजुर्ग के बजाय किसी युवा चेहरे को जिसमें संगठन को मजबूत करने की अपार क्षमताएं हों, उसे यह पद सौंपना चाहिए। वोरा ने कहा कि कांग्रेस में इंदिरा गांधी के समय भी एक बार युवा चेहरे चंद्रशेखर को पार्टी का अध्यक्ष बनाया गया था। अब यह वक्त फिर से आ गया है। मोतीलाल वोरा के कहने पर कौन युवा अध्यक्ष बनेगा, यह प्रश्न खोज का विषय है, लेकिन ज्योतिरादित्य सिंधिया के मामले में मोतीलाल वोरा ने अपनी मौन स्वीकृति उजागर भी कर दी और संकेत दिया कि सिंधिया को मौका दिया जा सकता है। इधर लोकसभा में लगभग 11 संसद सदस्यों ने तथा राज्यसभा के 80 प्रतिशत सदस्यों ने नए कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए लॉबिंग युद्ध स्तर पर शुरू कर दी है। सूत्रों के अनुसार गुलाम नबी आजाद, मधुसूदन मिस्त्री, आनंद शर्मा, बी.के. हरिप्रसाद, ऑस्कर फर्नांडिस, ए.के. अंटोनी, दिग्विजय सिंह, पी. चिदंबरम, श्रीमती अंबिका सोनी, कपिल सिब्बल ऐसे चेहरे हंै, जो चाहते हैं कि पार्टी का नया राष्ट्रीय अध्यक्ष सुशील कुमार शिंदे अनुभवी नेताओं को बनाया जाना चाहिए, जबकि लोकसभा में 40 से अधिक सदस्य युवा चेहरे हैं, इनका मानना है कि यदि पार्टी के पूर्व महासचिव पूर्व केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया जैसे ऊर्जावान नेता को पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया जाए तो कांग्रेस में फिर से नया उमंग कायम हो सकता है। सवाल यह उठता है कि राहुल गांधी द्वारा कांग्रेस शासित तीन राज्यों के मुख्यमंत्री जिसमें सबसे पहले मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से इस विषय में चर्चा की जाएगी तो क्या होगा। राजनैतिक पर्यवेक्षक मानते हैं कि राहुल गांधी इन तीनों मुख्यमंत्रियों को मनाने की कोशिश करेंगे कि सिंधिया के मामले में आम सहमति बने, लेकिन यदि ऐसा न हो सका तो सुशील कुमार शिंदे का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनना तय माना जा रहा है।