बेटी बचाना सब की सामूहिक जिम्मेदारी : शिवराज

भाजपा जन-जागरूकता के विभिन्न कार्यक्रमों द्वारा लोगों से आह्वान करेगी
भोपाल, 22 जुलाई।
बेटी बचाओ अभियान समिति की बैठक आज बी-8, 74 बंगले में आहूत की गई। बैठक में विभिन्न धर्म गुरू, वरिष्ठ एवं गणमान्य नागरिक, महिलाएं और बड़ी संख्या में बेटियां शामिल हुईं। बैठक में बेटी बचाओ अभियान के आगामी कार्यक्रम एवं रणनीति पर चर्चा की गई और समाज के सभी वर्गों को बेटी बचाओ अभियान में साथ लाने का आह्वान किया गया।
पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बैठक में कहा की बेटी बचाना हम सब की सामूहिक जिम्मेदारी है। बेटी बचाओ अभियान जन-जागरूकता के विभिन्न कार्यक्रम द्वारा लोगों से आह्वान करेगा कि बेटी बचाने के लिए सभी साथ आएं। मध्यप्रदेश में बेटियों के साथ अन्याय और अनहोनी से सुरक्षा हेतु बेटी बचाओ अभियान अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। चौहान ने बैठक में पुन: दोहराया कि बेटी बचाओ अभियान पूर्णत: गैर राजनैतिक मंच है, इस अभियान में समाज के सभी वर्ग जुड़ सकते हंै। राजनैतिक व्यक्ति भी सामाजिक कार्यकर्ता के तौर पर इस अभियान से जुड़ सकते हैं। हम सब मिलकर बेटियों पर होने वाले अपराधों के प्रति समाज को जागरूक करेंगे तो निश्चित तौर पर अपनी बेटियों को सुरक्षा प्रदान कर सकेंगे। आज आयोजित हुई बैठक में बेटी बचाओ अभियान के विभिन्न आगामी कार्यक्रमों की रूपरेखा तैयार गई। बेटी बचाओ अभियान की कोर कमेटी के 25 सदस्यीय का गठन शीघ्र करने का निर्णय लिया गया। समयदानी कार्यकर्ताओं को बनाने के साथ एक लीगल सेल का गठन सुनिश्चित किया जाएगा, जो कि बेटियों के साथ दुष्कर्म की घटना से पीडि़त परिवारों को कानूनी सहायता प्रदान करेगा। बैठक में बेटी बचाओ अभियान मार्च निकालने का भी निर्णय लिया गया जिसमें समाज के प्रत्येक वर्ग से अधिक से अधिक संख्या में लोगों को शामिल होने का आह्वाहन किया जाएगा। आने वाले त्यौहारों के दौरान बेटियों का सम्मान, महिला उत्थान के लिए कार्य करने वाली बहनों का सम्मान भी सुनिश्चित किया जाएगा।
कन्या महाविद्यालय एवं स्कूल में जन-जागरूकता कार्यक्रम, अध्यात्म केन्द्र, पूजा स्थलों- मंदिरों, मस्जिदों, चर्च और गुरूद्वारों में अभियान का विशेष प्रचार-प्रसार किया जाएगा। बैठक में रहवासी संगठनों, भजन मण्डली, समाज में काम करने वाली बहनों को भी इस अभियान से जोडऩे का निर्णय लिया गया। बेटी बचाओ अभियान का स्टीकर एव पम्पलेट, होर्डिंग, बैनर, पोस्टर इत्यादि के द्वारा भी अभियान का प्रचार-प्रसार करने के साथ अनेक कार्यक्रमों की रूपरेखा तैयार की गई। बैठक में महिला पत्रकारों को जोडऩे एवं संचार के सभी साधनों द्वारा प्रचार-प्रसार कर बेटी बचाने के लिए आम नागरिकों से आह्वान किया जाएगा। बैठक के उपरांत शिवराज सिंह चौहान सपत्नीक उपस्थित जनों द्वारा अपने-अपने वाहनों में बेटी बचाओ अभियान के स्टीकर लगाकर अभियान के प्रचार-प्रसार की विधिवत शुरूआत की।