हरियाणा मॉडल पर हो राज्य में 14 मंत्री

अमितेष ने मंत्री बनने की जतायी इच्छा ,कहा- मेरे दादा और पिता जी मुख्यमंत्री रहे हैं
रायपुर । राजिम विधायक अमितेष शुक्ला ने मंत्री बनने की अपनी इच्छा फिर दोहरायी है। राष्ट्रीय हिन्दी मेल से बातचीत में अमितेष शुक्ल ने कहा कि उनके पिता और दादा मुख्यमंत्री रहे हैं, ऐसे में तो उनकी इच्छा मंत्री बनने की है, हालांकि उन्होंने साथ में ये भी जोड़ते हुए कहा कि ये फैसला मुख्यमंत्री और अध्यक्ष पर निर्भर करता है। उन्होंने मंत्री बनाने के लिए हरियाणा मॉडल को अपनाने का विरोध किया, जहां 90 विधानसभा की सीट वाले राज्य में 15 मंत्री हैं। उन्होंने छत्तीसगढ़ में 14 मंत्री बनाने की मांग की है। हालांकि प्रदेश में 13 मंत्री का कोटा है, जो अमरजीत भगत के मंत्री बनने के साथ ही पूरा हो गया है, लेकिन अमितेष ने मंत्री बनने की इच्छा जताकर नया समीकरण छेड़ दिया है। हालांकि राजिम में रिकार्ड मत से जीतने वाले अमितेष के बारे में शुरुआती वक्त में जरूर ये चर्चा था कि शुक्ल परिवार के कांग्रेस में बड़ा दखल देखते हुए उन्हें मंत्री बनाया जा सकता है, लेकिन वक्त के साथ ही अमितेष का दावा कमजोर होता चला गया। बता दें कि मंत्रीमंडल में जगह न मिलने के बाद अमितेश शुक्ल नाराज भी हुए थे, उन्होने शपथ ग्रहण में भी हिस्सा नहीं लिया था। हालांकि आज मीडिया में बातकर उन्होंने एक बार फिर से अपनी दावेदारी कर नये समीकरण की तरफ इशारा कर दिया है। अमितेष ने कहा कि मंत्री बनने की इच्छा किसे नहीं होती, मैं भी मंत्री बनना चाहता हूं… मेरे दादा और पिता जी मुख्यमंत्री रहे, ऐसे तो मै मुख्यमंत्री भी बनना चाहूंगा हालांकि ये मुख्यमंत्री और अध्यक्ष का विशेषाधिकार है वे किसे अपने मंत्रीमंडल में रखना चाहते हैं किसे नहीं।