नवा रायपुर में बनेगा मुख्यमंत्री, मंत्री, विधायकों, अधिकारियों और पत्रकारों का आवास

एक साल में निर्माण पूरा करने सीएम भूपेश ने दिए निर्देश
रायपुर। छत्तीसगढ़ के नवा रायपुर के सेक्टर 24 में मुख्यमंत्री, मंत्री, विधायकों, अधिकारियों और पत्रकारों का आवास बनाया जाएगा. जिसके लिए करीब-करीब सरकार ने सहमति बना ली है. मंगलवार को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल स्थल का निरीक्षण करने पहुंचे थे. जिसके बाद सुझाव दिए गए है. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 1 साल में निर्माण पूरा करने को कहा है. पहले विधायकों का आवास छेरीखेड़ी में बनने वाला था. मुख्यमंत्री ने कहा मंत्रियों के बंगले के पास ही विधायकों का आवास बनेगा.दरअसल पिछली सरकार को उम्मीद थी कि मंत्रालय बनने के बाद नवा रायपुर की बसाहट में तेज़ी आएगी. पर ऐसा हुआ नहीं. उम्मीद की जा रही है कि जब मंत्री और अधिकारी नवा रायपुर में रहना शुरु करेंगे तो बसाहट तेज़ी से होगी.गौरतलब है कि रायपुर में मंत्रियों के बंगलों की हालत ठीक नहीं है. बारिश के मौसम में कई बंगलों से पानी टपकने की नौबत आ जाती है. दरअसल, जिन बंगलों में मंत्री रह रहे हैं, उन बंगलों में रायपुर जिले के अधिकारी रहते थे. नया राज्य बनने के बाद इन बंगलों को रेनोवेट करके मंत्रियों के अलार्ट किया गया. जब भी राज्य में नई सरकार बनती है, बंगलों की संख्या सीमित होने की वजह से बंगलों को लेकर मारामारी शुरु हो जाती है.
अति वर्षा होने की संभावना, अलर्ट जारी
अभी कुछ दिनों ही पहले प्रदेश के कई स्थानों में जोरदार बारिश देखी गई थी. जिससे बस्तर के कई इलाकों में बाढ़ के हालात पैदा हो गए थे. वहीं मौसम विभाग ने मंगलवार को प्रदेश के कई जिलों में रेड अलर्ट जारी किया है. अगले 24 घंटें में जिन जिलों में भारी बारिश की चेतावनी दी है उनमें महासमुंद,गरियाबंद, धमतरी,कांकेर,नारायणपुर,कोंडागांव और बस्तर संभाग के कुछ जिले शामिल हैं. जिसमें कुछ स्थानों में भारी से अति बारिश की चेतवानी विभाग ने दी है.