मंत्री के नाम पर लिए 4 पेटी …


प्रदेश में तबादला को उद्योग की संज्ञा दी गई, इससे बचने के बजाये सरकार के कुछ मंत्री अपने मातहतों के साथ मिलकर बहती गंगा में हाथ धोने का प्रयास करने लगे। कहते हैं इश्क और मुश्क छिपाए नहीं छुपता लिहाजा अब लेन-देन की बातें सामने आने लगी हैं। प्रदेश के एक मंत्री के नाम से उन्हीं के जिले के कांग्रेस कार्यकर्ता ने एक शासकीय महाविद्यालय से प्रोफेसर का तबादला कराने के नाम पर एडवांस के रूप में 4 पेटी ले लिए और जब उच्च शिक्षा विभाग की तबादला सूची जारी हुई तो प्रोफेसर का नाम सूची में नहीं आया तो फिर वह अब मंत्री से मिलने के लिए लगातार प्रयास कर रहे हैं। सूत्रों का कहना है कि यह मंत्री जी एक आदिवासी जिले के विधायक हैं और मुख्यमंत्री कमलनाथ के करीबी हैं, लेकिन पीएचई मंत्री सुखदेव पांसे नहीं हैं। ….खबरची