कमलनाथ का हिंदुत्व प्रेम और शिवराज का मीडिया प्रेम जाग गया…


मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भारतीय जनता पार्टी के हिंदुत्व वाले एजेंडे पर पूरी तरह मध्यप्रदेश में कब्जा करने का फैसला कर लिया है। स्मरण रहे कि कमलनाथ जबसे मुख्यमंत्री बने हैं तब से लेकर आज तक गुफा मंदिर, महाकालेश्वर, छिंदवाड़ा के हनुमान जी और पिछले दिनों संत समागम हर कार्यक्रम में पूरी सिद्दत से भाग लेते हैं। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह भले ही मुस्लिम परस्त होने का आरोप मिटाने के लिए &&00 किमी की नर्मदा परिक्रमा की हो लेकिन हिंदुत्व धर्मावलंबियों में अभी तक वैसी जगह नहीं बना पाए जो मात्र 10 महीनों की सरकार में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बना ली है। तीर्थ दर्शन यात्रा, बौद्धगया के लिए ट्रेन का रवाना होना, महाकाल के लिए &00 करोड़ रुपए की विशेष योजना बनाना इन सबका मतलब है अंतत: कांग्रेस में हिंदुत्व प्रेम जागने लगा है। दूसरी ओर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मीडिया से बचने वाले आरोपों को धोने के लिए हर छोटी बड़ी घटनाओं में मीडिया के सामने आ जाते हैं। भाजपा के ही एक बड़े नेता का नाम नहीं छापने की शर्त पर कहना है कि कमलनाथ जी हिंदुओं को पटाने में अव्वल हो गए हैं और शिवराज जी मीडिया को, लेकिन शिवराज जी भूल गए कि आज की उनकी पत्रकार वार्ता में वह शख्स भी शामिल था जिसके खिलाफ उन्हीं की सरकार में एक दर्जन मामले दर्ज हो गए थे, ऐसा मीडिया प्रेम भी उन्हें संभलकर जताना चाहिए। … खबरची