स्वच्छ भारत, सर्जिकल स्ट्राइक की बात करने पर कांग्रेस का पेट दर्द होता है: मोदी

पानीपत, 18 अक्टूबर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को हरियाणा के सोनीपत में चुनावी रैली को संबोधित किया। उन्होंने स्वच्छ भारत अभियान, सर्जिकल स्ट्राइक और बालाकोट एयर स्ट्राइक को लेकर दिए बयानों पर कांग्रेस पर निशाना साधा। मोदी ने कहा कि जब हम भारत की इन उपलब्धियों का जिक्र करते हैं तो कांग्रेस नेताओं के पेट में दर्द होने लगता है। अब जनता जान गई है कि कांग्रेसियों की यह बीमारी लाइलाज है। उनकी हमदर्दी किसके लिए है। प्रधानमंत्री ने कहा, कांग्रेस के पेट दर्द ऐसी लाइलाज बीमारी बन गया। कांग्रेस को ऐसी बीमारी हुई है कि हम स्वच्छ भारत की बात करते हैं तो कांग्रेस के पेट में मरोड़ होने लगती है। हम सर्जिकल स्ट्राइक की बात करते हैं तो कांग्रेस के पेट में इतना दर्द बढ़ जाता है कि पूछो मत। हम बालाकोट की बात करने लगते हैं तो दर्द इतना बढ़ जाता है कि वे छटपटाने लगते हैं। अब तो पूरा देश जान गया है कि कांग्रेस को पेट में दर्द क्यों और किसी हमदर्दी किसके लिए होता है।
कांग्रेसियों के बयान पाकिस्तान को अच्छे लगते हैं: मोदी ने कहा, कांग्रेस नेताओं के कश्मीर पर जो बयान आए वो किसके काम आ रहे हैं, कांग्रेस के नेता जो बोल रहे हैं, उसका फायदा कौन उठा रहे हैं। कहां-कहां इस्तेमाल किया जा रहा है। अब कांग्रेस वालों को जवाब देना चाहिए, आप ऐसे कैसे बोल रहे हो। जो पाकिस्तान के लोगों को अच्छा लगता है। जो हिंदुस्तान के लोगों को अच्छा लगे, ये बोलने की हिम्मत दिखाओ जरा। कांग्रेस नेताओं के झूठे वायदे, उनकी भाषा को पकड़कर आज पाकिस्तान इनके बयानों का प्रयोग कर रहा है।
प्रधानमंत्री ने भ्रष्टाचार के मुद्दे पर कांग्रेस को घेरा: मोदी ने कहा, कांग्रेस के कुशासन में किसान, जवान और खिलाड़ी के हित सुरक्षित नहीं थे। इन्होंने खेत में भ्रष्टाचार की फसल उगाई, खेल में घोटालों की उपज काटी है। कांग्रेस के राज में खेल और खिलाड़ी की स्थिति से आप परिचित हैं। 2014 से पहले खेलों में घोटाले की खबर आती थी। कौन कितनी मलाई खा गया, इसकी खबरें आती थीं। लेकिन बीते 5 साल में गौरव और सम्मान की खबरें युवी पीढ़ी को प्रेरणा दे रही हैं। खर्ची और पर्ची वाला कांग्रेसी कल्चर अब हरियाणा से विदा हो चुका है।
कांग्रेस की न्याय योजना लागू होती तो नहीं आती मंदी: राहुल: महेंद्रगढ, 18 अक्टूबर (वार्ता)। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा है कि किसान, गरीब और मजदूर की जेब में पैसा डालने के लिए लोकसभा चुनाव में पहले उनकी पार्टी ‘न्याय योजना लेकर आयी थी लेकिन केंद्र में उनकी सरकार नहीं बनी इसलिए देश आर्थिक मंदी के दलदल में चला गया है। गांधी ने हरियाणा के महेंद्रगढ़ में शुक्रवार को कांग्रेस की चुनावी सभा में परिवर्तन रैली को संबोधित करते हुए कहा कि अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस ने ‘न्याय योजना लाने का देश की जनता से वादा किया था, क्योंकि पार्टी जानती है कि अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने के लिए गरीब, किसान तथा मजदूर की जेब में पैसा पहुंचाना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में अगर कांग्रेस की जीत होती तो इस योजना को लागू करके गरीब, किसान, मजदूर आदि के बैंक खाते में सीधा इस योजना का पैसा जाता और हिंदुस्तान के लोगों को जो कष्ट हो रहा है वह नहीं होता। उन्होंने कहा 2004 से 2014 तक देश में कांग्रेस के नेतृत्व वाली संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार थी और तब हमारी अर्थव्यवस्था इसलिए तेजी से आगे बढ़ी कि उस दौरान महात्मा गांधी ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) लागू की गयी तथा किसान का कर्ज माफ किया गया। कांग्रेस नेता ने कहा कि मनरेगा से सीधे 35 हजार करोड़ रुपए गरीबों की जेब में पहुंचा और किसानों की जेब में 70 हजार करोड रुपए दिए गये। इससे उनकी खरीद क्षमता बढ़ी लेकिन प्रधानमंत्री बनने के बाद नरेंद्र मोदी ने पांच साल में किसानों, मजदूरों और गरीबों की जेब का यह पैसा नोटबंदी लागू करके वापस ले लिया और अरबपतियों को दे दिया।