अतिथि को पानी नहीं पिलाने पर भड़के साहब…


सूबे में सरकार वक्त है बदलाव के नारे के साथ आई थी, वो बदलाव दिखाई भी दे रहा है। हालांकि बहुत से नौकरशाह पहले भी सहृदय थे, आज भी मानवता का परिचय दे रहे हैं। वाक्या है नई बनी एनेक्सी-3 मंजिल का, जहां एक सेवक को आईएएस ने मानवता का पाठ पढ़ाया वो काबिल-ए-तारीफ है। दरअसल आईएएस के पास कुछ लोग मुलाकात करने आए थे, इसमें अध्ययन करने वाला एक छात्र भी था। साहब ने सेवक से पानी पिलाने को कहा तो सेवक ने सभी को पानी का ग्लास तो दिया, पर वह छात्र को पानी पिलाना भूल गया। फिर क्या था, साहब सेवक पर भड़क गए और नरमी दिखाते हुए सेवक को सजा के तौर पर कुछ देर तक अपने पीछे खड़े रहने की सजा दे दी। साहब का अपने प्रति इतना सम्मान देखकर विद्यार्थी गदगद हो गया। वैसे आपको बता दें ये नरम दिल नौकरशाह गुलशन बामरा हैं, वे जहां भी जाते हैं रोशनी फैलाते हैं…। -खबरची