एक एसीएस ने दूसरे एसीएस को बताया ऐसी चिट्ठी लिखो…


मध्यप्रदेश के नौकरशाहों में एक-दूसरे को निपटाने की रणनीति बहुत पुरानी परंपरा है। इसी के चलते एक महिला अतिरिक्त मुख्य सचिव को सरकार की नौकरी छोडऩी पड़ गई। सूत्रों के अनुसार मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की कोटरी में प्रमुख सचिव रह चुके एक युवा नौकरशाह के खिलाफ ईओडब्ल्यू में प्रकरण दर्ज होने का मामला था, तब 1992 बैच के एक अतिरिक्त मुख्य सचिव ने उक्त महिला आईएएस अधिकारी को यह कहकर चिट्ठी लिखने की सलाह दे दी कि आईएएस एसोसिएशन को आपत्ति उठाते हुए मुख्य सचिव को चिट्ठी लिखनी चाहिए। उपरोक्त अतिरिक्त मुख्य सचिव ने सलाह मानकर मुख्य सचिव को चिट्ठी लिख डाली। बताया जाता है कि उपरोक्त महिला आईएएस अधिकारी केन्द्र सरकार में इम्पेरलमेंट नहीं होने के कारण पहले से ही निराशा में थीं। इसी के बाद उनके द्वारा मुख्य सचिव को लिखी गई चिट्ठी ने उन्हें और परेशान कर दिया। बताते हैं जिस नौकरशाह ने उन्हें चिट्ठी लिखने की सलाह दी, वह उन्हें दीदी-दीदी कहते थे। लेकिन उन्हें भी पता नहीं था कि दीदी को नौकरी छोडऩी पड़ेगी और हुआ वहीं, अब बेचारी इंतजार कर रही हैं डीओपीटी की अनुमति का, ताकि विदेश में जाकर नौकरी कर लें। उल्लेखनीय है कि चिट्ठी लिखने की सलाह देने वाले नौकरशाह का नाम मोहम्मद सुलेमान से संबंधित नहीं है।… -खबरची