राकेश सिंह-शोभा ओझा आमने-सामने


कलेक्टर के थप्पड़ पर बवाल
भोपाल।
मप्र के राजगढ़ में रविवार को हुए थप्पड़ कांड के बाद पूरे मध्य प्रदेश में राजनीति गर्माई हुई है। इस घटना के बाद बीजेपी ने राजगढ़ की डिप्टी कलेक्टर से सवाल पूछा है कि आखिर वंदे मातरम और भारत माता की जय के नारे लगाने वालों से उन्हें क्या तकलीफ है? बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने भारत माता की जय बोलने से डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा की नाराजगी का कारण पूछा है। बीजेपी नेता ने कहा कि सीएम कमलनाथ के पास क्या कार्यकर्ताओं की कमी हो गई थी, जो वे प्रशासनिक अधिकारियों को कार्यकर्ता के तौर पर इस्तेमाल कर रहे हैं? उन्होंने इस मामले में एफआईआर दर्ज करने की मांग की है, वहीं, कांग्रेस नेता शोभा ओझा ने इस घटना की निंदा की है, बता दें झड़प के वक्त कलेक्टर निधि निवेदिता भी मौके पर मौजूद थीं, उनके साथ भी अभद्रता करने का आरोप लगा है। कांग्रेस ने कही कार्रवाई की बात
शोभा ओझा ने कहा कि बीजेपी कार्यकर्ता जिस तरह से अधिकारियों के साथ पेश आए हैं, उससे बीजेपी का चेहरा साफ नजर आ रहा है, उन्होंने कहा कि प्रदेश में कमलनाथ की सरकार है, 15 साल का बीजेपी का गुंडाराज नहीं है, उन्होंने घटना के जिम्मेवार दोषियों पर कार्रवाई की बात कही है।

राजगढ़ कलेक्टर के खिलाफ भाजपा ने खोला मोर्चा
राजगढ़ जिले के ब्यावरा में कलेक्टर और अन्य प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट के मामले में पार्टी ने कलेक्टर के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। पार्टी की ओर से आज जारी विज्ञप्ति के अनुसार पार्टी के प्रदेश राकेश सिंह, पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, वरिष्ठ नेता कैलाश विजयवर्गीय और विधानसभा में विपक्ष के नेता गोपाल भार्गव अन्य नेताओं के साथ 22 जनवरी को कलेक्टर के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराने राजगढ़ जिले की यात्रा पर रहेंगे। इस बीच प्रदेश भाजपा के निर्देश पर पार्टी के एक प्रतिनिधिमंडल ने आज राजगढ़ का दौरा किया और रविवार की घटना के संबंध में पार्टी कार्यकर्ताओं से जानकारी हासिल की। पार्टी की विज्ञप्ति के अनुसार ब्यावरा में सीएए के समर्थन में जुटे पार्टी कार्यकर्ताओं और आम नागरिकों के साथ कलेक्टर निधि निवेदिता और अन्य अधिकारियों द्वारा मारपीट करना एक पहलू है। इसमें आरोप लगाते हुए दावा किया गया है कि घटना के दिन ब्यावरा में एक मंदिर परिसर में पार्टी कार्यकर्ता एकत्रित होकर पाठ कर रहे थे, तभी उनके साथ मारपीट शुरू कर दी गयी थी। इसमें आरोप लगाया गया है कि पुलिस प्रशासन ने कल की घटना के दौरान जिन लोगों को गिरफ्तार किया, उनके साथ ब्यावरा थाने में मारपीट भी की गयी। रणदीप सिंह सुरजेवाला के पिता शमशेर सिंह सुरजेवाला का निधन
नयी दिल्ली। वरिष्ठ कांग्रेसी नेता और हरियाणा प्रदेश सरकार में चार बार मंत्री रहे शमशेर सिंह सुरजेवाला का सोमवार को निधन हो गया। वह 88 वर्ष के थे और पिछले काफी समय से बीमार चल रहे थे। सुरजेवाला कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला के पिता हैं। उनका लंबी बीमीारी के बाद आज दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में निधन हो गया। सुरजेवाला अपने लंबे राजनीतिक जीवन में हरियाणा प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष एवं राज्य विधानसभा में विपक्ष के नेता एवं कैथल के पूर्व विधायक भी रहे हैं।