डब्ल्यूएचओ ने की मोदी की तारीफ, कहा- लॉकडाउन कोरोना से लड़ने के लिए सबसे मजबूत कदम

संयुक्त राष्ट्र ने कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में भारत के प्रति एकजुटता जताई है, साथ ही विश्व संगठन की स्वास्थ्य एजेंसी के एक शीर्ष अधिकारी ने कोविड-19 वैश्विक महामारी से निपटने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 21 दिन के लॉकडाउन के कदम को ”व्यापक और मजबूत” बताते हुए उसकी प्रशंसा की।

प्रधानमंत्री की अपील : देशभर में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है। फिलहाल, कोरोना वायरस से संक्रमितों की संख्या 550 के पार चली गयी है। बड़ी बात यह है कि भारत में कोरोना संक्रमित 46 लोग ठीक भी हो चुके हैं। कोरोना वायरस से संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने 21 दिनों के लॉकडाउन का ऐलान किया है। पीएम मोदी ने साफ-साफ कहा है कि इन 21 दिनों तक इस देश में कोई भी अपने घर से बाहर कदम नहीं रखेगा। केवल इमरजेंसी सेवाएं ही जारी रहेंगी. आप भी सरकार के फैसले के साथ खड़े रहिये। 21 दिनों तक घर में रहकर हम देश के साथ ही खुद को सुरक्षित रख सकते हैं।

संयुक्त राष्ट्र ने कहा- भारत में कोविड-19 वैश्विक महामारी को रोकने के लिए 21 दिन का बंद है। संयुक्त राष्ट्र की स्वास्थ्य एजेंसी डब्ल्यूएचओ सरकार से ‘आक्रामक कार्रवाई’ करने का अनुरोध करती है। भारत में डब्ल्यूएचओ के प्रतिनिधि हेंक बेकेडम ने वैश्विक महामारी से निपटने में देश के प्रयासों की प्रशंसा करते हुए इसे ”व्यापक और मजबूत” बताया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री की सामाजिक दूरी बनाने की अपील को देशभर में काफी समर्थन मिला। बता दें कि भारत में आहूत किए गए ‘जनता कर्फ्यू’ पर भी संज्ञान लिया गया, जब देश के 1.3 अरब नागरिक सामाजिक दूरी बनाने की कोशिश के तहत सुबह सात बजे से रात को नौ बजे तक अपने घरों में ही रहे।