अपने दम पर बॉलीवुड में अलग पहचान बनाना चाहती है अंकिता परमार

दीपिका पादुकोण की तरह भूमिका निभाने की इच्छा : परमार
बॉलीवुड फिल्मों की अदाकारा अंकिता परमार आज किसी परिचय की मोहताज नहीं है. उनकी कला में वो जादू है कि जो भी एक बार देखे, उनकी कला के कायल हो जाएंगे। उनकी एक्टिंग में जीवंतता झलकती है. वे कहती है की मन में दृढ़ इच्छा और लगन हो तो कोइ भी काम असम्भव नहीं होता। जो मन में ठान ले उसे पूरा करके ही रहती हूँ। वे अपने कला व मॉडलिंग के दम पर पहचान बनाना चाहती है. उनका कहना है कि बॉलीवुड में काम करने वाली सभी कलाकार उनके आदर्श है। क्योंकि सबसे मुझे कुछ ना कुछ सीखने को ही मिलता है। मैं अपने कामों से पूरी तरह से संतुष्ट हूं। अंकिता परमार कहती है कि मैं कभी निराशा नहीं होती। यही उनकी सफलता का राज है. मुंबई के बेहतरीन निर्देशकों में से एक विट्ठल वेतुरकर के हिन्दी फिल्म “माहेरूह” में काम करने का मौका मिला था लेकिन कुछ कारण वश यह फिल्म मैं नहीं कर पाई। मॉडल अंकिता परमार बताती है कि मेरी पहली फिल्म “प्रेम संकट” जो एक मराठी फिल्म थी जिसमें मैं सेकेंड लीड एक्ट्रेस की भूमिका में आई थी। अंकिता परमार कहती है कि फिल्म पद्मावत में दीपिका पादुकोण ने जो भूमिका निभाई थी वो भूमिका निभाने की मेरी इच्छा है। उन्होंने आगे है कि मैं बॉलीवुड जगत के महशूर अभिनेत्री विद्या बालन व जूही चावला को अपनी फेवरेट हिरोइन मानती हूं। इसके साथ ही मैं मुंबई के महशूर निर्देशक संजय लीला भंसाली के साथ काम करने की मेरी तमन्ना है। उन्होंने अंत में कहा मैं विट्ठल वेतुरकर के आगामी हिन्दी वेब सीरिज इलूशन (भ्रम) में हिन्दी फिल्म ‘माहेरूह’ के फेम स्टार अमित डोलावत के साथ एक बेहतरीन अदाकारी के साथ नजर आउंगी। इसकी शूटिंग लॉकडाउन के खत्म होते ही शूरू होगी।