छत्तीसगढ़ में सरकार की अनुमति के बाद भी नहीं चलेगी बस

बस मालिकों ने सरकार से रखी ये मांग
रायपुर। राज्य सरकार के आदेश के बाद भी प्रदेश में बस चलाने से बस मालिकों ने मना कर दिया है। बस मालिकों का कहना हैं कि पहले उनके द्वारा रखी गई मांग को राज्य सरकार पूरी करें उसके बाद ही वो बसे चलायेंगे। बस मालिकों ने जो मांग सरकार से रखी है उनमे लॉक डाउन अवधि के आगामी 6 माह का टैक्स माफ,डीजल की कीमतों के अनुपात में यात्री किराए में वृद्धि और नॉन यूज बसों को बिना टैक्स लिए खड़ी करने की अनुमति दी जाए। इन सभी मांगो के पूरे होने के बाद ही बस मालिकों ने बस चलाने की बात कही है।बता दें कि आज देर शाम राज्य सरकार ने यात्रियों की सुविधा के लिये राज्य में बस सेवा चालू करने की अनुमति दी थी। सरकार ने कुछ नियमों के साथ ये सेवा कल से चालू करने को कहा है। सरकार ने जिन नियमों के तहत बस चालू करने कहा है उनमें यात्री, ड्राइवर और कंडक्टर को मास्क लगाना अनिवार्य होगा। बस में गुटका, तम्बाकू और धूम्रपान करना प्रतिबंधित रहेगा। ड्राइवर-कंडक्टर की ड्यूटी बारी-बारी से रहेगी। साथ ही बसों को रोजाना सैनिटाईज करना भी अनिवार्य होगा।