सावन में होने वाली कांवड़ यात्रा रद्द

पुलिस ने शिव भक्तों से की यह अपील
फ़रीदाबाद। कोविड-19 के संक्रमण को देखते हुए इस बार सावन महीने में होने वाली कांवड़ यात्रा को रद्द करने का फैसला लिया गया है. पुलिस ने फरीदाबाद के शिव भक्त श्रद्धालुओं से अपील करते हुए कहा कि इस बार पैदल या डाक कांवड़ यात्रा में हिस्सा न लें. वहीं ट्रांसपोर्ट मालिकों को भी निर्देश दिए गए हैं कि कांवड़ियों को कांवड़ यात्रा के लिए किसी भी तरह का वाहन उपलब्ध न कराएं. पुलिस के आदेशों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी. फ़रीदाबाद पुलिस ने इसे लेकर एडवाइजरी जारी की है.पुलिस आयुक्त ने कहा कि इस वर्ष पैदल कांवड़ यात्रा एवं डाक कांवड़ यात्रा कोविड-19 के चलते रद्द की गई है. इस संबंध में उन्होंने सभी डीसीपी एसीपी थाना प्रभारी चौकी इंचार्ज को अपने अपने एरिया में कांवड़ यात्रा करने वाले श्रद्धालुओं को इस संबंध में अवगत कराने का दिशा निर्देश दिया गया है.पुलिस आयुक्त ने कहा कि शिव भक्तों को स्वयं और दूसरों की सुरक्षा के लिए प्रशासन द्वारा लिए गए निर्णय का पालन करें. ट्रांसपोर्ट मालिकों को भी निर्देश दिए गए हैं कि वह किसी भी तरह का वाहन कांवड़ यात्रा के लिए उपलब्ध नहीं कराएंगे. पुलिस आयुक्त ने कहा कि निर्देशों की पालना ना करने वालों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई करेगी.बता दें कि कोरोना महामारी का असर इस बार कांवड़ यात्रा पर भी पड़ा है. 21 जून को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कांवड़ यात्रा पर बातचीत की थी. इनकी बातचीत में यह तय हुआ कि इस बार इस यात्रा को रोक दिया जाए. इस फैसले की जानकारी उत्तराखंड मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के दफ्तर से दी गई थी.