दीवार में सिर मारोगे तो सिर ही तो फूटेगा, विकास दुबे के एनकाउंटर पर बोले पिता

विकास दुबे का परिवार भी मानता है कि जिस रास्ते पर वो निकल पड़ा था, उसका अंत ऐसे ही होना था. विकास दुबे के पिता राम कुमार दुबे ने कहा कि विकास की यही गति होनी थी. विकास दुबे के पिता बीमार रहते हैं, कानपुर गोली कांड ने घर में तूफान खड़ा कर दिया है. वे कातर स्वर में कहते हैं कि हां ठीक तो किया…कहता तो हूं.

  • विकास के गुनाह के साथ परिवार भी नहीं
  • ‘दीवार में सिर मारोगे तो सिर फूटेगा ही’
  • कानपुर में हुआ अंतिम संस्कार

कानपुर के गैंगस्टर विकास दुबे के गुनाह को उसके परिवार वाले भी सही नहीं मान रहे हैं. एनकाउंटर में विकास दुबे के खात्मे के बाद उसके पिता और पत्नी रिचा ने कहा है कि विकास दुबे के साथ जो हुआ वो ठीक हुआ.

विकास दुबे के पिता का कहना है कि अगर कोई दीवार में सिर मारेगा तो सिर ही फूटेगा, दीवार नहीं. उसकी पत्नी इस वक्त बदहवासी की हालत में है फिर भी वो चीखते हुए कहती है कि हां…हां…उसके साथ ठीक हुआ.

भैरवघाट पर हुआ विकास दुबे का अंतिम संस्कार

शुक्रवार को कानपुर के भैरव घाट में विकास दुबे का अंतिम संस्कार कर दिया गया. इसके साथ ही जुर्म के काले अध्याय का अंत हो गया. इस दौरान विकास दुबे की पत्नी रिचा दुबे, बेटा और परिवार के कुछ दूसरे करीबी लोग मौजूद थे.

‘दीवार में सिर दे मारोगे…तो सिर ही फूटेगा’

विकास दुबे का परिवार भी मानता है कि जिस रास्ते पर वो निकल पड़ा था, उसका अंत ऐसे ही होना था. विकास दुबे के पिता राम कुमार दुबे ने कहा कि विकास की यही गति होनी थी. विकास दुबे के पिता बीमार रहते हैं, कानपुर गोली कांड ने घर में तूफान खड़ा कर दिया है. वे कातर स्वर में कहते हैं, “हां तो ठीक किया…कहता तो हूं…मुख्यमंत्री का ये कर्तव्य है…हर आदमी की रक्षा करना…वो तो सरकार का अंग ही है…मान लो जब तुम दीवार में सिर दे मारोगे…तो सिर ही फूटेगा, दीवार थोड़े गिरेगी…इस बात को वो सोच नहीं सका.”

…उसके साथ जो हुआ वो ठीक हुआ

विकास दुबे की पत्नी रिचा दुबे भी इस वक्त बदहवासी की हालत में हैं. जब पत्रकारों ने उनकी पत्नी से पूछा कि क्या वो हत्यारा था तो उन्होंने चीखते हुए कहा कि हां हां…उसके साथ जो हुआ वो ठीक हुआ है. रिचा दुबे ने कहा कि उनके पति के साथ सही हुआ है.

एनकाउंटर में मारा गया विकास दुबे

बता दें कि एसटीएफ ने जो बयान जारी किया है उसके मुताबिक उज्जैन से कानपुर आ रही विकास दुबे की गाड़ी पलट गई. इस दौरान गाड़ी में सवार पुलिस वाले घायल हो गए. इस बीच विकास दुबे ने पुलिस की गन छीन ली और वहां से भागने की कोशिश की. पुलिस ने विकास का पीछा किया तो उसने पुलिस पर फायरिंग कर दी. जिसके बाद पुलिस ने जवाबी कार्रवाई की और विकास दुबे एनकाउंटर में मारा गया.