पूरा सत्र बीत गया विद्यार्थियों को नहीं मिली साइकिलें

खुरई, 31 जनवरी। शिक्षा सत्र प्रारंभ होते ही जनप्रतिनिधियों सहित शिक्षा सहित अन्य विभागों के अधिकारी बढ़ चढ़ कर स्कूल चलें हम अभियान का प्रचार प्रसार करते हैं लेकिन उसके बाद इस अभियान में कितने प्रयास प्रशासन से लेकर सरकार तक कर रही है इसका किसी को ध्यान नहीं रहता।
शिक्षा का पूरा सत्र बीत गया लेकिन अभी तक किसी भी छात्र छात्राओं को साईकिलें नहीं मिली हैं। पाने के कारण उन्हें कई किलोमीटर तक पैदल जाना पड़ता है। जिससे उन्हें एक तो स्कूल आने जाने में समय ज्यादा लगता है और थकान हो जाने से भी पढ़ाई प्रभावित हो रहीं है। ग्राम कठैली की हाई स्कूल में पढऩे वाली छात्राओं ने अपने गांव बिलैया जाते समय रास्ते में बताया कि उन्हें अभी तक स्कूल की ओर से मिलने वाली साईकिलें नहीं मिली है। जिससे उन्हें लगभग 6 किलोमीटर तक अपने गांव जाना पड़ता है। कक्षा 9वीं की छात्रा वंदना सेन ने बताया कि 2 फरवरी से उसकी परीक्षायें हैं लेकिन अभी तक उसे साईकिल नहीं मिली जिससे उसे परेषानी हो रही है। ऐसे ही कक्षा नौवीं के ही सुरेष अहिरवार ने बताया की साईकिल न मिलने से उसे अपने गांव बिलैया से कठैली 6 किलोमीटर आना जाना पड़ता है।
पढ़ाई हो रही प्रभावित
छात्र छात्राओं ने बताया कि उन्हें पैदल स्कूल आने जाने में जहां एक ओर समय ज्यादा लगता है तो दूसरी ओर पैदल चलने से थक जाते है जिससे पढ़ाई में मन नहीं लगता है। हर दिन 12 किलोमीटर पैदल चलने से थक जाता हूं पढ़ाई प्रभावित हो रही है। छात्राओं के परिजनों को भी वर्तमान परिस्थितियों के कारण चिंता हो जाती है क्योंकि पैदल आने जाने में रास्ते में अनजान घटनाओं का भी डर रहता है साथ ही शाम को लौटने मे थोड़ी भी देर हो जाती है तो चिंता होने लगती है।