2,892 करोड़ का बकाया चुकाने में फेल अनिल अम्बानी के हेड क्वार्टर पर यस बैंक ने किया कब्ज़ा

प्राइवेट सेक्टर के यस बैंक लिमिटेड ने मुंबई में अनिल धीरूभाई अंबानी ग्रुप (ADAG) के हेडक्वार्टर रिलायंस सेंटर को अपने कब्जे में ले लिया है। बिल्डिंग का कब्जा 22 जुलाई को सिक्योरिटाइजेशन एंड रिकंस्ट्रक्शन ऑफ फाइनेंशियल एसेट्स एंड एनफोर्समेंट ऑफ सिक्योरिटी इंटरेस्ट एक्ट के तहत हुआ।

बुधवार को फाइनेंशियल एक्सप्रेस में पब्लिश एक विज्ञापन में बैंक ने बताया किया कि उसने सांताक्रूज (मुंबई) में 21,000 वर्ग फुट से अधिक एरिया वाले हेडक्वार्टर की बिल्डिंग और दक्षिण मुंबई में नागिन महल में दो मंजिलों पर कब्जा कर लिया है, जो कि उसका तत्कालीन हेडक्वार्टर था।

2,892 करोड़ का बकाया चुकाने में फेल
अनिल धीरूभाई अंबानी ग्रुप बैंक का 2,892 करोड़ रुपए का बकाया चुकाने में फेल रहा है, जिसके बाद यस बैंक ने कब्जे का कदम उठाया। इसी साल मार्च में अंबानी ने प्रवर्तन निदेशालय (ED) के अधिकारियों से कहा था कि यस बैंक के लिए अनिल धीरूभाई अंबानी ग्रुप का पूरा जोखिम पूरी तरह से सुरक्षित है और कानून और वित्तीय नियमों के अनुपालन में है। अनिल अंबानी के ग्रुप पर यस बैंक का कुल 12,000 करोड़ रुपए बकाया है।

उन्होंने यह भी कहा कि ग्रुप का न तो राणा कपूर, उनकी पत्नी और उनकी बेटियों से कोई डायरेक्ट या इनडायरेक्ट संपर्क है, और न ही यह उनके द्वारा नियंत्रित किसी भी संस्था के संपर्क में है।

कपूर फैमिली पर बैंक फ्रॉड केस में चार्जशीट फाइल हुई थी
इसी साल मई में प्रवर्तन निदेशालय ने राणा कपूर, उनकी बेटियों रोशनी कपूर, राधा कपूर और राखी कपूर के खिलाफ यस बैंक फ्रॉड केस में चार्जशीट दाखिल की थी। इसके अलावा चार्जशीट में मॉर्गन क्रेडिट्स, यस कैपिटल का भी नाम है। फिलहाल प्रशांत कुमार को यस बैंक के निदेशक के तौर पर कामकाज देख रहे हैं।

ब्लिस हाउस आरएबी एंटरप्राइज इंडिया प्राइवेट लिमिटेड की 100% सहायक कंपनी है, जिसके मालिक राणा कपूर की पत्नी बिंदू कपूर हैं। बता दें कि अनिल अंबानी 2008 में दुनिया के छठे सबसे अमीर व्यक्ति थे, लेकिन टेलीकॉम, पावर और एंटरटेनमेंट सेक्टर में बड़े घाटे के चलते उन पर कर्ज बढ़ता चला गया।