अब बूढ़े हो गए, क्या बनेंगे कलेक्टर…

मध्यप्रदेश में 28 विधानसभा उपचुनाव की अधिसूचना के साथ-साथ आदर्श चुनाव आचार संहिता भी लागू हो गई है, लेकिन सरकार ने जिला कलेक्टरों के तबादले के लिए एक बीच का रास्ता निकालकर रखा है। यदि किसी कलेक्टर को आनन-फानन में हटाना पड़े तो क्या किया जाएगा। सूत्र बताते हैं कि मुख्य सचिव ने निर्वाचन आयोग से इस बात के लिए सहमति बना ली है, जहां चुनाव नहीं हो रहे हैं वहां के कलेक्टर हटाए जा सकते हैं और उन जिलों में जहां चुनाव नहीं हैं वहां कलेक्टर पदस्थ भी किए जा सकते हैं। इस अवधारणा के चलते 2009 बैच के कुछ आईएएस अधिकारियों में अभी जिला कलेक्टर बनने की होड़ लगी हुई है। एक युवा आईएएस अधिकारी ने एक मित्र से कह दिया है कि उनको पूछा जाएगा तो वे साफ कह देंगे, अब बूढ़े हो गए हैं क्या बनेंगे कलेक्टर। उल्लेखनीय है कि उपरोक्त वाक्या युवा आईएएस अधिकारी अभिषेक सिंह से संबंधित नहीं है। -खबरचीं