मैं आपसे दूर रहता हूं, शिवराज नहीं कि घर तक पहुंच जाऊं मीडिया कर्मियों से बोले पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ

भोपाल, 16 अक्टूबर। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर कॉरपोरेट नेता होने का ठप्पा लगा हुआ है। बीजेपी हमेशा कमलनाथ को लेकर यही कहती है कि वो लग्जरी राजनीति करते हैं, उन्हें आम जनता से कोई लेना-देना नहीं है। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ का मीडिया कर्मियों को लेकर दिया गया बयान भी यही दर्शाता है कि वो लोगों से किस तरीके से पेश आते हैं।
दरअसल, कमलनाथ ने मीडिया कर्मियों से चर्चा करते हुए कहा कि मैं आपसे दूर रहता हूं, मैं शिवराज सिंह नहीं हूं, शिवराज तो आपके घर पहुंच जाएंगे। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर पहले भी आरोप लगते रहे हैं कि वो मीडिया से दूर रहते हैं और कम ही इंटरेक्ट करते हैं। कमलनाथ के इस बयान से यह साफ जाहिर हो रहा है कि कमलनाथ मीडिया को तवज्जो नहीं देते, इससे पहले भारतीय जनता पार्टी कमलनाथ पर लग्जरी राजनीति करने का आरोप लगाती रही है, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी कई बार कह चुके हैं कि जिन्होंने गांव नहीं देखा, गरीबी नहीं देखी, वो गरीब जनता का तो क्या जाने, इसके बाद कमलनाथ का मीडिया कर्मियों को लेकर दिए गया बयान साफ दर्शाता है कि उन्हें मीडिया की जरूरत नहीं है, इसलिए वो मीडिया से दूर रहते हैं।
कमलनाथ का शिवराज पर हमला, कहा
जनता के पुजारी के भगवान
माफिया और मिलावटखोर
भोपाल। मध्य प्रदेश के सियासी समर में जैसे-जैसे चुनाव की तारीख नजदीक आ रही है, वैसे-वैसे आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी तेज होता जा रहा है। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर बड़ा हमला बोला है, कमलनाथ ने ट्वीट कर लिखा कि जनता को भगवान और खुद को पुजारी बताने वालों के असली भगवान माफिया और मिलावट खोर बन रहे हैं, जिससे प्रदेश बर्बाद हो रहा है। शिवराज सरकार आते ही शराब, अपहरण, अपराध और ड्रग से लेकर हर तरह के माफिया फिर सक्रिय हो गए, उज्जैन में शराब माफिया ने 14 लोगों की जान लेने के बाद अब जबलपुर में एक 12 वर्ष के बालक का अपहरण की घटना सामने आई है, पूरी सरकार चुनाव में लगी है, प्रदेश में सरकार नाम की चीज बची ही नहीं है, कानून-व्यवस्था की स्थिति बद से बदतर होती जा रही है।