मौत के सौदागरों को नेस्तनाबूद किया जाए

मुख्यमंत्री ने दिए निर्देश

उज्जैन जोन में 1500 लीटर नशीले पदार्थ की जप्ती, अन्य जोन में भी कार्यवाही प्रारंभ

भोपाल, 16 अक्टूबर। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि नशीली वस्तुओं के अवैध कारोबार से जुड़े लोगों, उनके द्वारा अवैध रूप से ऐसे पदार्थों की आपूर्ति और बिक्री पर नजर रखी जाए। ऐसे लोगों की धरपकड़ की जाए और नशे के ऐसे सौदागरों को नेस्तनाबूद किया जाए। उज्जैन की तरह अन्य स्थानों पर यदि ऐसी वस्तुएं बेची जा रही हों तो दोषियों के विरुद्ध सख्त से सख्त कार्यवाही की जाए। मुख्यमंत्री आज निवास पर आयोजित बैठक में वरिष्ठ अधिकारियों से उज्जैन में जहरीले नशीले द्रव के सेवन से हुई मौतों के संबंध में दोषियों के विरुद्ध की गई कार्यवाही की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में बताया गया कि उज्जैन में दोषी और लापरवाह पुलिसकर्मी निलंबित किए गए हैं। करीब डेढ़ हजार लीटर नशीले द्रव्य पदार्थ भी जप्त किए गए हैं। अन्य पुलिस जोन में भी ऐसी कार्यवाही चल रही है। पुलिस स्टाफ ऐसे व्यक्तियों की खोज और गिरफ्तारी कर रहा है जो यह व्यवसाय संचालित कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने स्वास्थ्य विभाग को भी ऐसे पदार्थों की बिक्री और आपूर्ति करने वाले व्यक्तियों के विरुद्ध सख्त कदम उठाने के निर्देश दिए। उन्होंने इस तरह की शराब अथवा अन्य नशीली चीजों के स्रोत, उनकी लायसेंसिंग और आपूर्ति के पहलुओं की जांच और अध्ययन कर प्रतिबंधात्मक वैधानिक कदम उठाए जाएं। बैठक में मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस ने बताया कि वे आज ही इस संबंध में एक अभियान की रूपरेखा को अंतिम रूप दे रहे हैं। अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान ने स्वास्थ्य विभाग के स्तर पर की जाने वाली कार्यवाही की जानकारी दी।
मिलावट के विरुद्ध अभियान चलाएं
मुख्यमंत्री ने कहा कि मिलावट के विरुद्ध भी एक अभियान संचालित हो जिसमें दोषियों के विरुद्ध कड़ी कानूनी कार्यवाही की जाए। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि मिलावटखोरों के विरुद्ध सख्त एक्शन लिया जाए। किसी भी तरह की मिलावट का मामला हो, दोषी व्यक्ति बचना नहीं चाहिए। आम जनता को बचाने के लिए सभी संबंधित विभाग सतर्क, सजग और सक्रिय रहें। सिस्टम चुस्त-दुरुस्त बनाएं ताकि गड़बडिय़ां न हों। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि उन्हें प्रतिदिन इस दिशा में की गई कार्यवाही की जानकारी प्रदान की जाए। प्रदेश में किसी भी स्थान पर इस तरह की अवैध गतिविधियों को प्रश्रय न मिले, जो अधिकारी-कर्मचारी ऐसे कार्यों को प्रश्रय देंगे उनके विरुद्ध भी कड़े कदम उठाए जाएंगे।

रिक्त पदों की पूर्ति के अभियान की समीक्षा
भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज प्रोफेशनल एक्जामिनेशन बोर्ड और विभाग स्तर पर रिक्त पदों की भर्ती के लिए की जा रही कार्यवाही की जानकारी अधिकारियों से प्राप्त की। उन्होंने रिक्त पदों की पूर्ति के लिए संचालित अभियान की समीक्षा की। बैठक में जेल, स्वास्थ्य, कृषि, पुलिस विभाग में रिक्त पदों की पूर्ति के संबंध में की जा रही कार्यवाही की जानकारी दी गई।
बैठक में बताया गया कि गृह विभाग में आरक्षकों के 6 हजार 800 पदों, स्वास्थ्य विभाग में 2249 पदों और कृषि और किसान कल्याण विभाग में 800 पदों के लिए रिक्रूटमेंट टेस्ट की तैयारी हो गई है। उपयंत्री के ग्रुप 3 रिक्रूटमेंट टेस्ट 52 पदों के लिए हो रहे हैं। इसी तरह ग्रुप-2 एवं सब ग्रुप-4 के रिक्रूटमेंट टेस्ट हो रहे हैं जिनसे 240 पदों की पूर्ति हो सकेगी। जेल प्रहरी के 282 पदों के लिए रिक्रूटमेंट टेस्ट हो रहे हैं। बैठक में मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस और विभिन्न विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

धान उपार्जन कार्य की तैयारियों की समीक्षा
भोपाल। प्रदेश में करीब 40 लाख मीट्रिक टन धान का उपार्जन संभावित है। उपार्जन कार्य के लिए आवश्यक व्यवस्थाएं की जा रही हैं।
मुख्यमंत्री चौहान ने शुक्रवार को प्रदेश में धान, ज्वार और बाजरा के उपार्जन कार्यों की तैयारियों की समीक्षा की। बताया गया कि आगामी 27 अक्टूबर से ग्वालियर और चंबल संभाग में धान खरीदी प्रारंभ की जा रही है। अन्य संभाग के लिए तिथि शीघ्र निर्धारित की जाएगी।
मुख्यमंत्री ने प्रदेश में किसानों से किए जाने वाले उपार्जन कार्य के संबंध में विस्तार से जानकारी प्राप्त की। उन्होंने खाद्य, सहकारिता और कृषि विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को निर्देश दिए कि खरीद से संबंधित कार्य व्यवस्थित रुप से संपन्न हो। आवश्यक अमले को दायित्व देकर इन कार्यों को बखूबी पूर्ण करने के निर्देश दिए जाएं। किसानों को कोई असुविधा नहीं होना चाहिए। पंजीयन कार्य और खरीदी केंद्र संख्या इस तरह से निर्धारित हो कि सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन हो और किसान स्वास्थ्य की दृष्टि से सुरक्षित वातावरण में फसल बेच सकें। बैठक में खरीदी व्यवस्था, किसानों को समर्थन मूल्य पर राशि का भुगतान और उपार्जित फसल के भंडारण के संबंध में चर्चा हुई।
प्रमुख सचिव खाद्य फैज अहमद किदवई ने बताया कि प्रदेश में गत वर्ष की तुलना में पंजीयन संख्या में काफी वृद्धि हुई है। प्रदेश में किसानों से उपार्जन के लिए 15 अक्टूबर तक पंजीयन की कार्यवाही की जा चुकी है।
बैठक में मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, कृषि उत्पादन आयुक्त के.के. सिंह, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान, प्रमुख सचिव कृषि अजीत केसरी, प्रमुख सचिव खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति फैज अहमद किदवई, प्रमुख सचिव ऊर्जा संजय दुबे, आयुक्त जनसंपर्क डॉ. सुदाम खाडे, ओएसडी मुख्यमंत्री कार्यालय मकरंद देऊस्कर उपस्थित थे।

दोषियों को फांसी तक पहुंचाने
में नहीं छोड़ेंगे कोई कसर

मुरैना। चुनावी आम सभा को संबोधित करने मुरैना पहुंचे सीएम शिवराज ने उज्जैन में जहरीली शराब से हुई मौतों पर बयान दिया, सीएम ने कहा कि इस मामले को लेकर एसआईटी टीम गठित कर दी गई है, एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है, जो भी दोषी होगा, उनको बख्शा नहीं जाएगा।
सीएम ने कहा कि बाकी आरोपियों को पकडऩे की कोशिश की जा रही है, अपराधियों को फांसी के फंदे तक पहुंचाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

कांग्रेस सरकार ने ठप्प कर दिये थे विकास कार्य
मुरैना (वार्ता)। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कांग्रेस की कमलनाथ सरकार ने प्रदेश में सभी विकास कार्य पूरी तरह से ठप्प कर दिए थे, लेकिन भाजपा की सरकार बनते ही वे सभी कार्य फिर से शुरू कर दिए गए हैं। श्री चौहान आज मुरैना जिले की अम्बाह विधान सभा से भारतीय जनता पार्टी के प्रत्यशी कमलेश जाटव के समर्थन में ग्राम रछेड में एक चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने चुनाव में जो वायदे किये वे वायदे सरकार बनने के बाद ठंडे बस्ते में डाल दिये और जनता के साथ धोका किया।
उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर तंज कसते हुए कहा कि वे अपने चुने हुए विधायकों से मिलना भी पसंद नहीं करते थे तो वे जनता से कैसे मिलते। उन्होंने कहा कि अगर कोई दलाल या ठेकेदार मिलने जाता तब वे उसे तरजीह देते थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि अटल चंबल एक्सप्रेस-वे की फाइल भी उन्होंने दबा दी थी, लेकिन शिवराज सिंह चौहान ने उसका कार्य भी शुरू करा दिया है। अटल चंबल एक्सप्रेस-वे के बनने से वहां हम दिल्ली से उद्योग लाकर लगाएंगे जिससे बेरोजगार नो जबानों को रोजगार मिलेगा।

कमलनाथ की सरकार गिराने के लिए सिंधिया से पहले रणवीर जाटव आए थे : शिवराज
भिंड, 16 अक्टूबर। मध्यप्रदेश के भिंड जिले में सीएम शिवराज सिंह ने खुले मंच से चौंकाने वाला बयान दिया है, चुनावी सभा को संबोधित करते हुए सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि ज्योतिरादित्य सिंधिया से पहले रणवीर जाटव मेरे पास आए थे और कहा था कि कांग्रेस की सरकार नहीं रहनी चाहिए, अब चाहे जो हो जाए इस कांग्रेस की सरकार को गिराकर ही हम चैन की सांस लेंगे।
शिवराज सिंह चौहान आज भिंड जिले की दोनों विधानसभा मेहगांव और गोहद में चुनावी सभाएं संबोधित करने पहुंचे थे, जिसमें गोहद के मालनपुर में आयोजित चुनावी सभा पर सीएम शिवराज ने जनता को संबोधित करते हुए उन्होंने रणवीर जाटव के लिए मतदाताओं से वोट करने की अपील की है। जनसभा को संबोधित करते हुए सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि जब मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार थी, उस दौरान भ्रष्टाचार चरम पर था। वह योजनाएं बंद करते जा रहे थे जिसकी वजह से जनता परेशान हो रही थी, उन्होंने भिंड के साथ भी नाइंसाफी की थी, जिसके बाद रणवीर जाटव ज्योतिरादित्य सिंधिया से भी पहले मेरे पास आकर कहे थे कि यह सरकार नहीं रहनी चाहिए, यह मध्य प्रदेश को बर्बाद कर देंगे, लिहाजा अब तक कांग्रेस बीजेपी में शामिल हुए विधायकों पर 35 करोड़ रूपए में बिकने का आरोप लगाती रही है, अब तक कहा जा रहा था कि इन 22 विधायकों ने सिंधिया के साथ हो रहे व्यवहार से आहत होकर और जनता के विकास कार्यों की अनदेखी के चलते कांग्रेस से बगावत की थी और बीजेपी में शामिल हुए थे, लेकिन सीएम शिवराज सिंह के खुले मंच से दिए इस बयान ने राजनीतिक गलियारों में हलचल तेज कर दी है।

नारियल और कांग्रेस के कुकर्मों को लेकर साधा निशाना
बीजेपी प्रत्याशी के समर्थन में चुनावी सभा करने भिंड पहुंचे एमपी के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने गोरमी और मालनपुर में सभाओं को संबोधित किया। इस दौरान सीएम चौहान ने मंच से संबोधित करते हुए पूर्व सीएम कमलनाथ पर जमकर जुबानी हमला बोला। चौहान ने कहा कि उद्योगपति ने सीएम बनकर मेरी बहनों के लड्डू के पैसे बंद कर दिए थे, लेकिन मैंने फिर से शुरू कर दिया है। उद्योगपति सीएम ने किसानों को मिलने वाले जीरो प्रतिशत ब्याज वाले कर्जे को बंद कर दिया था, जबकि इस नंगे-भूखे शिवराज सिंह ने सीएम बन कर किसानों को फिर से 0 प्रतिशत ब्याज पर कर्ज शुरू कर दिया है। सीएम ने कहा कि वे कहते हैं कि मैं जेब में नारियल लेकर चलता हूं और नारियल फोड़ता रहता हूं। उन्होंने लोगों से पूछा कि अगर विकास कार्य करने के बाद मैं नारियल फोड़ देता हूं तो इसमें क्या गलत बात है। शिवराज ने आगे बोलते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार ने ऐसे कुकर्म किए थे कि सवा साल में ही उनके पाप का घड़ा भर गया और मामा मुख्यमंत्री बन गया।

भाजपा विकास की पर्याय : तोमर
इससे पूर्व केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने अम्बाह विधान सभा से भाजपा के प्रत्यशी कमलेश जाटव को जिताने की अपील करते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी और विकास एक दूसरे का पर्याय है। अगर शिवराज सिंह को स्थाई मुख्यमंत्री चाहते हो तो भाजपा को वोट देकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथ मजबूत करें। उन्होंने कहा कि शिवराज सिंह चौहान मुख्यमंत्री बने तो विकास का पहिया रुकेगा नहीं।