नगर निगम की बैठक में कांग्रेस का हंगामा

भोपाल, ७ फरवरी। नगर निगम परिषद की बैठक में कांग्रेस ने जमकर हंगामा किया। परिषद अध्यक्ष पर नियमों को दरकिनार कर काम करने का आरोप लगाते हुए कांग्रेस पार्षद दल ने आसंदी के सामने धरना दिया, वहीं परिषद के पटल पर कम्प्लीशन सर्टिफिकेट जारी करने की जांच रिपोर्ट रखी जाएगी। इस मामले में तीन अपर आयुक्त, सिटी इंजीनियर पर गाज गिरना तय है। तीन अपर आयुक्त की सेवाएं नगर निगम से खत्म करते हुए उन्हें मूल विभाग लौटाया जा रहा है। जांच कमेटी ने भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने के मामले में इन तीनों अफसरों की विभागीय जांच की सिफारिश की है।
आईएसबीटी सभागार में नगर निगम परिषद की बैठक शुरू हुई। बैठक की कार्रवाई शुरू होते ही कांग्रेस पार्षद रईसा मलिक ने नगर निगम परिषद की पिछली बैठक की कार्यवाही रिपोर्ट की कापी मांगी, परन्तु कार्यवाही रिपोर्ट की कापी न दिए जाने पर नेता प्रतिपक्ष समेत समूचे कांग्रेस पार्षदों ने आसंदी के सामने धरना दिया, वहीं आज कम्प्लीशन सर्टिफिकेट जारी करने के मामले में बनी जांच कमेटी की रिपोर्ट को पटल पर रखी गई, जिसका वाचन एमआईसी सदस्य कृष्णमोहन सोनी द्वारा किया गया।
जांच रिपोर्ट को प्रस्तुत करने की मांग काग्रेस पार्षद गिरीश शर्मा ने पिछली बैठक की कार्यवाही की पुष्टि होने के बाद की थी। उन्होंने सदन को बताया कि जोन 18 में दस प्रकरणों की जांच कृष्ण मोहन सोनी व अधिकारियों की टीम ने की। जोन 19 में गिरीश शर्मा न अधिकारियों की टीम ने 18 प्रकरणों की जांच की। सभी प्रकरणों की जांच में पाया गया कि नगर नगम अधिकारियों ने जल्दबाजी में नियमों को दरकिनार कर कम्प्लीशन सर्टिफिकेट जारी किए। जांच कमेटी ने इस मामले में पाया है कि अपूर्ण भवनों में जान, माल का नुकसान हो सकता है।