अतिथि शिक्षकों ने खून से लिखा पत्र और खून के जलाएं दीए

सिलवानी। अतिथि शिक्षक संघर्ष समिति के बैनल तले अतिथि शिक्षक पिछले छ: दिनों से अपनी मांगों को लेकर धरने पर बैठी हुई है। गुरूवार को मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम अनिल जैन को ज्ञापन सौंपा गया था। मंगलवार को छठवे दिन आंदोलनकारी अतिथि शिक्षकों ने खून से पत्र लिखे और खून के दिए जलाए। अतिथि शिक्षकों की मांग है कि प्रदेश के सभी शासकीय प्राथमिक, माध्यमिक, शालाओं 10 वर्षों से सेवारत अतिथि शिक्षकों को गुरूजियों के समान विभागीय परीक्षा लेकर उनके वर्ग 1, 2, 3 के अनुसार यथावर्ग संबिदा शिक्षक बनाकर नियमित किये जाए।
धरने में बैठने वालों में अवधनारायण धाकड़, दशरथ कुशवाहा, प्रीतश चौरसिया, रामबाबू रघुवंशी, मुन्नालाल शर्मा, धर्मेन्द्र रघुवंशी, रामलोचन, देवीसिंह यादव, जगदीश कुमार भार्गव आदि प्रमुख है।