मुझे डीआईजी बना दो…?

प्रदेश के नर्मदापुरम संभाग में डीआईजी पद को लेकर इन दिनों कश्मकश का दौर जारी है। नर्मदापुरम संभाग के डीआईजी को लेकर वैसे तो कई आईपीएस अधिकारी कतार में है, लेकिन एक आईपीएस अधिकारी ऐसे भी बताए जाते हैं जो सीधे तौर पर मुख्यमंत्री सचिवालय से जुड़े हैं और वे रिटायरमेंट के अंतिम समय में होशंगाबाद रेंज के डीआईजी बनना चाहते हैं। क्योंकि वर्तमान में होशंगाबाद रेंज के डीआईजी का पद रिक्त है। उक्त डीआईजी को यह बात अच्छे से पता है कि होशंगाबाद रेंज में रेत, कोयला और मादक पदार्थों की सप्लाई बड़ी मात्रा में है। उन्होंने सोचा है कि जाते-जाते जितना आ जाए उतना ही कम है। उल्लेखनीय है कि यह वाक्य एआईजी अजाक डीआर तेनीवार को लेकर नहीं लिखा गया है। -खबरची