वे थे ओ.एस.डी. जिनसे सब डरते थे, ये हैं ओ.एस.डी. जो सबसे डरते हैं, ‘गजब…?

मध्यप्रदेश में कमलनाथ की 15 महीनों की सरकार में उनके एक ओ.एस.डी. ने इतना तांडव किया कि बड़े से बड़े नौकरशाह उनके सामने मुख्यमंत्री से मिलने के पहले ही थर-थर कांपते थे, ऐसा जलवा किसी ओ.एस.डी. का कभी भी किसी सरकार में नहीं देखा गया। कमलनाथ जी के ओ.एस.डी. तो कई नौकरशाहों को पहले नाम से ऐसे बुलाते थे, जैसे कोई उनके निजी निवास का नौकर हो। और तो और कमलनाथ के जमाने में एक लंबू सुरक्षा अधिकारी तो अतिरिक्त मुख्य सचिव स्तर के अधिकारी को सीटी बजाकर कह देता था मोबाइल बाहर रखो। लेकिन शिवराज के समय का जमाना लौट गया है, परंपराएं और मर्यादाएं भी लौटीं। शिवराज जी के एक ओ.एस.डी. जो सबसे ज्यदा पावरफुल हैं, वे सभी से डरते हैं, यह सोचकर मुंह से कुछ गलत न निकल जाए। बताते हैं कि ये ओ.एस.डी. साहब सभी नौकरशाहों से डर-डर कर ही बात करते हैं। कार्यशैली में ऐसा फर्क आश्चर्यचकित करने वाला है। ऐसा नहीं है कि शिवराज जी के ओ.एस.डी. से डर नहीं लगता, लेकिन लिहाज और मीठी जुबान से ये दिल लूट लेते हैं। उल्लेखनीय है कि उपरोक्त वाक्या कमलनाथ जी के ओ.एस.डी. रह चुके आर.के. मिगलानी और शिवराज जी के ओ.एस.डी. नीरज वशिष्ठ को लेकर नहीं लिखा गया है। -खबरची