ऋषभ पंत से पिटने के बाद बेईमानी पर उतरे ऑस्‍ट्रेलियाई खिलाड़ी

क्रिकेट को वैसे तो जेंटलमेंस गेम कहा जाता है. लेकिन शायद ऑस्‍ट्रेलियाई खिलाडि़यों का इस शब्‍द से कोई लेना देना नहीं है. क्‍योंकि जब बात हार जीत की आती है तो ये टीम और इसके खिलाड़ी हरमुमकिन बेशर्मी पर उतर जाते हैं. सिडनी टेस्‍ट (Sydney Test) के पांचवें दिन भी दर्शकों को कुछ ऐसा ही देखने को मिला. मैच के आखिरी दिन के पहले सेशन में जब ऋषभ पंत (Rishabh Pant) और चेतेश्‍वर पुजारा ने मेजबान टीम को हताश कर दिया तो दिग्‍गज बल्‍लेबाज स्‍टीव स्मिथ (Steve Smith) ड्रिंक्‍स ब्रेक के दौरान पिच पर आए और ऐसी घटिया हरकत की जिसने एक बार फिर ऑस्‍ट्रेलियाई खिलाडि़यों का काला चेहरा बेनकाब कर दिया.

भारत और ऑस्‍ट्रेलिया (India vs Australia) के बीच सिडनी में खेले जा रहे तीसरे टेस्‍ट मैच के पांचवें दिन का खेल मेजबान टीम के पक्ष में शुरू हुआ. भारतीय कप्‍तान अजिंक्‍य रहाणे दिन के दूसरे ही ओवर में आउट हो गए. मगर इसके बाद ऋषभ पंत और चेतेश्‍वर पुजारा ने पहले दिन का सेशन खत्‍म होने तक 104 रन की साझेदारी कर ली. खासतौर पर पंत काफी आक्रामक दिखे, जिन्‍होंने इस साझेदारी में 73 रन बनाए थे. मगर इसी दौरान ड्रिंक्‍स ब्रेक के वक्‍त स्‍टीव स्मिथ चुपके से पिच पर आए और शेडो बैटिंग करने का नाटक करने लगे. अचानक ही ऐसा करते करते उन्‍होंने बल्‍लेबाज के मार्क लेने वाली जगह को जूते से कुरेदना शुरू कर दिया. शायद पंत ने उन्‍हें ऐसा करते हुए देख लिया था. तभी उन्‍होंने अंपायर से पूछकर दोबारा मार्क सेट किया.

एक साल के बैन के बाद भी बाज नहीं आए स्मिथ

दरअसल, बल्‍लेबाजी मार्क लगाकर खिलाड़ी अपने खड़े होने और बल्‍ला रखने की जगह तय करते हैं. इसमें गड़बड़ी होने पर बल्‍लेबाज के लिए ये समझना मुश्किल होता है कि वो तीनों स्‍टंप्‍स से कितना दूर या करीब है. ब्रेक के दौरान ऐसी हरकत करते हुए स्‍टीव स्मिथ की सोच शायद यही रही होगा कि पंत अपने बल्‍लेबाजी मार्क से हट जाएं और बल्‍लेबाजी के दौरान कोई गलती कर बैठें. मगर उनकी चाल कामयाब नहीं हो सकी. ये पहली बार नहीं है जब ऑस्‍ट्रेलियाई खिलाड़ी जीत के लिए घटिया से घटिया हरकत करने पर उतारू हो जाते हैं. साउथ अफ्रीका के खिलाफ बॉल टेंम्‍परिंग का मामला इसी बात का जीता जागता उदाहरण है जब स्‍टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर पर एक साल का प्रतिबंध भी लगा दिया गया था.