श्रीसंत का IPL खेलने का सपना टूटा, नहीं मिली नीलामी में जगह, आजीवन बैन भी लग चुका

नई दिल्ली: इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) 2021 से पहले 18 फरवरी को एक मिनी ऑक्शन (IPL Auction) होना है. इस साल बीसीसीआई (BCCI) ने 292 खिलाड़ियों को आईपीएल नीलामी के लिए चुना है. जबकि इस साल नीलामी के लिए 1114 खिलाड़ियों ने रजिस्ट्रेशन किया था. आईपीएल 2013 में स्पॉट फिक्सिंग के चलते बैन हुए भारतीय खिलाड़ी एस श्रीसंत (S Sreesanth) को बीसीसीआई ने नीलामी की लिस्ट में नहीं चुना है. श्रीसंत को इस साल उम्मीद थी कि वे आईपीएल के जरिए इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी कर सकेंगे.

7 साल से थे बैन 

एस श्रीसंत (S Sreesanth) को आईपीएल (IPL) 2013 के दौरान स्पॉट फिक्सिंग का दोषी पाया गया था, जिसके बाद उनके ऊपर आजीवन प्रतिबंध लगाया गया था. हालांकि केरल हाईकोर्ट ने उस बैन को खत्म कर दिया और श्रीसंत (S Sreesanth) ने 2020 में 7 साल का लंबा बैन झेलने के बाद घरेलू क्रिकेट में फिर से वापसी की. श्रीसंत ने आईपीएल (IPL) के लिए भी रजिस्टर किया था, लेकिन बीसीसीआई ने उन्हें ऑक्शन के लिए शॉर्टलिस्ट नहीं किया.

सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के जरिए क्रिकेट में लौटे थे श्रीसंत

स्पॉट फिक्सिंग के चलते सात साल का बैन झेलने वाले एस श्रीसंत (S Sreesanth) ने हाल ही में सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के जरिए क्रिकेट में वापसी की. श्रीसंत (S Sreesanth) को इस टूर्नामेंट के लिए केरल की टीम में जगह मिली थी. श्रीसंत को उम्मीद थी कि वे घरेलू क्रिकेट के जरिए आईपीएल (IPL) में वापसी कर सकते थे, जिसके बाद उन्होंने सोचा था कि वे भारत में होने वाले 2023 वर्ल्ड कप में टीम का हिस्सा बन सकेंगे. हालांकि बीसीसीआई ने उनकी इस उम्मीद पर पानी फेर दिया.