बस 5-5 पेटी दे दो ओएसडी बना देंगे तुम्हें प्रभारी कार्यपालन यंत्री…

जहां-जहां पर मंत्रियों को यदि छोड़ दिया जाये तो उनसे ज्यादा सत्ता का मद और अहंकार उनके ओएसडी के सिर चढ़कर बोलने लग जाता है। हालांकि लोग कहते हैं इस तरह का क्रूर भ्रष्टाचारी आचरण तो पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ एवं उनके मंत्रियों के ओएसडी रह चुके अधिकारियों में कूट-कूट कर भरा था। कमलनाथ सरकार उलट गई लेकिन ओएसडी तो हर सरकार में एक ही बिरादरी से आते हैं, सो ऐसे ही चतुर लोगों ने समीकरण बैठाकर फिर से शिवराज सरकार में भी मंत्रियों के ओएसडी बन बैठे हैं। बकायदा वॉट्सएप पर ग्रुप बनाकर बधाई देते हैं, कहते हैं इस सरकार में भी आधा ‘पॉवरÓ उन्हीं लोगों के पास है, इसी के चलते बताते हैं एक मंत्री जी के ओएसडी 40 सहायक यंत्रियों से 5-5 पेटी एडवांस ले चुके हैं यह कह कर कि वे उन्हें एक-दो रोज में ही प्रभारी कार्यपालन यंत्री बना देंगे। उक्त मंत्री बेखबर हैं, परन्तु एक चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी ने नाम नहीं छापने की शर्त पर उक्त ओएसडी की पोल खोलते हुये कहा कि लूट देखना है तो ओएसडी द्वारा तैयार की जाने वाली नोटशीट की जांच करा लो, घर में छापा डलवा दो। उल्लेखनीय है उपरोक्त वाक्या ग्रामीण विकास मंत्री महेन्द्र सिंह सिसोदिया के ओएसडी ब्रजेश श्रीवास्तव से संबंधित नहीं है। -खबरची