महाराष्ट्र विधानसभा की विशेषाधिकार हनन समिति ने कंगना को अगले सत्र तक पेश होने के लिए कहा

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत (Kananga Ranaut) एक बार फिर चर्चा में आ गई हैं। दरअसल महाराष्ट्र विधानसभा (Maharashtra Assembly) की विशेषाधिकार हनन समिति ने अगले सत्र तक उन्हें पेश होने के लिए कहा है। याद दिला दें कि महाराष्ट्र सरकार और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को लेकर अपमानजनक शब्द बोलेने के मामले में शिवसेना नेता प्रताप सरनाइनक कंगना रनौत के खिलाफ विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव लाए थे।

कौन हैं प्रताप सरनाईक
दरअसल ये पूरा मामला बीते साल (2020) सितंबर का है, जब कंगना रनौत ने महाराष्ट्र सरकार और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के खिलाफ कई तीखे बयान दिए थे। बता दें कि कंगना के ख‍िलाफ विशेषाध‍िकार हनन प्रस्‍ताव लाने वाले प्रताप सरनाईक वही विधायक हैं, जिन्‍होंने अभिनेत्री के खिलाफ देशद्रोह का मामला दर्ज करने की भी मांग की थी।

क्या है पूरा मामला
गौरतलब है कि जब कंगना रनौत के ऑफिस पर बीएमसी ने कार्रवाई की थी, तब कंगना ने मुंबई की तुलना पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (POK) से की थी। इसके साथ ही सोशल मीडिया पर वीडियो साझा करते हुए कंगना ने मुख्‍यमंत्री उद्धव ठाकरे के खिलाफ भी अपमानजनक बातें कही थीं। 

आमने सामने थे कंगना और संजय राउत
याद दिला दें कि उस वक्त कंगना रनौत और संजय राउत की जुबानी जंग देखने को मिली थी। यह पूरा मामला तब अधिक बढ़ गया था जब संजय राउत ने ट्विटर के जरिए आरोप लगाया कि कंगना ने मुंबई पुलिस का अपमान किया है। अपनी बात रखते हुए संजय राउत ने कंगना को मुंबई वापस नहीं आने की भी बात कही थी (उस वक्त कंगना हिमाचल प्रदेश में थीं)। उस ही बात पर कंगना ने ट्वीट कर लिखा कि शिवसेना नेता संजय राउत उन्‍हें धमकी दे रहे हैं और उन्‍हें मुंबई पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर जैसा महसूस हो रहा है।