युवराज सिंह ने आठ गेंद पर जड़े 44 रन, लगाए छह छक्‍के, इंडिया लीजेंड्स ने बनाए 204 रन

युवराज सिंह एक बार फिर सिक्‍सर किंग बन सामने आए. युवराज सिंह ने आठ ही गेंदों में 44 रन ठोक दिए. इस दौरान युवराज सिंह ने छह छक्‍के दो चौके लगाए. अपनी इस पारी के दौरान युवराज सिंह ने एक ही ओवर की चार लगातार गेंदों पर चार छक्‍के लगा दिए थे, लेकिन वे उस ओवर में छह छक्‍के नहीं लगा सके. ये मैच रायपुर में खेला जा रहा है. युवराज सिंह ने इस पारी में 22 गेंदों में 52 रन की अर्धशतकी पारी खेली. इतना ही नहीं इससे पहले मास्‍टर ब्‍लास्‍टर सचिन तेंदुलकर ने भी कमाल की पारी खेली 37 गेंदों में 60 रन बनाए. इस दौरान सचिन तेंदुलकर ने एक छक्‍का नौ छक्‍के मारे. इंडिया लीजेंड्स ने पहले बल्‍लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवर में तीन विकेट के नुकसान पर 204 रन बनाए.

पहले बल्‍लेबाजी करने उतरी इंडिया लीजेंड्स की टीम की ओर से वीरेंद्र सहवाग इस टीम के कप्‍तान सचिन तेंदुलकर बतौर ओपनर मैदान में उतरे. हालांकि वीरेंद्र सहवाग बड़ी पारी इस मैच में नहीं खेल सके आठ गेंद में छह रन बनाकर पवेलियन लौट गए. इसके बाद बल्‍लेबाजी करने आए बद्रीनाथ ने सचिन तेंदुलकर का अच्‍छा साथ दिया इन दोनों ने इंडिया लीजेंड्स की पारी को 111 तक पहुंचा दिया. तभी अपना अर्धशतक पूरा कर चुके सचिन तेंदुलकर 60 रन के व्‍यक्‍तिगत स्‍कोर पर आउट हो गए. सचिन तेंदुलकर के आउट होने के बाद क्रीज पर आए युवराज सिंह ने आते ही अपने अंदाज में बल्‍लेबाजी शुरू कर दी. युवराज सिंह बद्रीनाथ ने कुछ देर तक साझेदारी की. इसके बाद बद्रीनाथ रिटायर होकर वापस चले गए. मैच में यूसुफ पठान ने भी दर्शकों का खूब मनोरंजन किया तेजी के साथ 10 गेंद में 23 रन बनाए. जब मैच का 18वां ओवर चल रहा था तो स्‍ट्राइक पर युवराज सिंह थे पहली गेंद खाली चली गई, इसके बाद युवराज सिंह ने दूसरी गेंद पर छक्‍का मारा. तीसरी गेंद पर फिर युवराज सिंह ने छक्‍का मारा. तीसरे लगातार गेंद पर छक्‍का मारकर युवराज सिंह ने छक्‍कों की हैट्रिक पूरी की.

युवराज सिंह इसके बाद भी नहीं रके चौथी गेंद पर फिर छक्‍का मार दिया. हालांकि पहली गेंद खाली जा चुकी थी, इसलिए छह गेंद पर छह छक्‍के तो नहीं मारे जा सकते थे, लेकिन अचानक से वो नजारा सामने आ गया, जब साल 2007 के विश्व कप में युवराज सिंह ने इंग्‍लैंड के खिलाफ छह गेंद पर छह छक्‍के मारकर नया कीर्तिमान बना दिया था, जिसे अभी तक याद किया जाता है इसी के बाद युवराज सिंह सिक्‍सर किंग बन गए. हालांकि ओवर की छठी गेंद पर युवराज सिंह ने छक्‍का मारने का प्रयास नहीं किया गेंद खाली चली गई. लेकिन तब तक युवराज सिंह चार लगातार गेंदों पर चार छक्‍के लगा चुके थे. इसके बाद अगले ही ओवर में युवराज सिंह ने फिर एक छक्‍का मारा मैच के आखिरी ओवर में अपना अर्धशतक पूरा किया. वहीं भारत की ओर से मनप्रीत गोनी ने नौ गेंद पर 16 रन की तेज तर्रार पारी खेली. अब दक्षिण अफ्रीका को ये मैच जीतने के लिए 20 ओवर में 205 रन बनाने हैं, अगर टीम इंडिया ये मैच जीत जाती है तो सेमीफाइनल में पहुंच जाएगी.