होड़ लगी है जेल जाने की, पहले जाएगा कौन…


मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में एक रिटायर्ड मुख्य सचिव और एक-दो मुख्य सचिव स्तर के अधिकारी आजकल ‘फट-फटीÓ में घूम रहे हैं। इनको डर है कि किसी भी दिन इन्हें पुलिस या ई.डी. बयान लेने बुला सकते हैं। एक युवा आईएएस अधिकारी नाम नहीं छापने की शर्त पर कहते हैं कि वल्लभ भवन की चौथी और पांचवीं मंजिल ‘एंटी माफियाÓ अभियान चला रहे हैं, उधर माफिया फरार हो रहे हैं। इधर मुख्य सचिव के समकक्ष पहुंचकर बेहिसाब संपत्ति और नियमों को ताक में रखकर 0.6 प्रतिशत अनुमति वाले इलाके में महलनुमा अवैध बंगला बनाने वाले कई नौकरशाहों की नींद उड़ी हुई है। उक्त नौकरशाह ने कहा- प्रदेश की जनता के लिये नियम बनाने वाले ये बड़े नौकरशाह नियमों की कितनी धज्जियां उड़ाकर ऐश कर रहे हैं, इसकी जांच पांचवीं और चौथी मंजिल दोनों ने मिलकर यदि कर ली तो यकीन मानिये एक रिटायर्ड और एक सेवारत मुख्य सचिव स्तर के नौकरशाह जेल जायेंगे। परन्तु होड़ है पहले जायेगा कौन। उल्लेखनीय है कि उपरोक्त वाक्या पूर्व मुख्य सचिव सुधि रंजन मोहंती एवं अतिरिक्त मुख्य सचिव राधेश्याम जुलानिया को लेकर नहीं लिखा गया है। -खबरची