कोरोना के नियंत्रण एवं उपचार में कोई कोर-कसर न रहे

अस्पतालों में सर्वश्रेष्ठ उपचार सुविधाएँ
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेश में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा की 

भोपाल : मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना के नियंत्रण एवं उपचार में कोई कोर-कसर न रहे। अस्पताल में कोरोना के उपचार की सर्वश्रेष्ठ व्यवस्थाएँ करें। जाँच, दवा, इंजेक्शन, बेड्स आदि की कोई कमी न रहे। इस कार्य में धन की बिल्कुल कमी नहीं आने दी जाएगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान आज मिंटो हॉल परिसर में बनाए गए अस्थाई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कक्ष से प्रदेश में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की जिलेवार समीक्षा कर रहे थे। बैठक में मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, डीजीपी श्री विवेक जौहरी, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री मोहम्मद सुलेमान, अपर मुख्य सचिव गृह श्री राजेश राजौरा आदि उपस्थित थे।

प्रभारी अधिकारियों की भूमिका सराहनीय

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रत्येक जिले में कोरोना संबंधी व्यवस्थाओं के लिए तैनात प्रभारी अधिकारी निरंतर अपने जिलों का भ्रमण कर वहाँ सारी व्यवस्थाएँ सुनिश्चित कर रहे हैं। उनकी भूमिका सराहनीय है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जिन जिलों में संक्रमण ज्यादा है, वहाँ संक्रमण रोकने तथा जहाँ संक्रमण नहीं है, वहाँ संक्रमण न फैले इस संबंध में समस्त आवश्यक कदम उठाए जाएँ।

कमांड एंड कंट्रोल सेंटर प्रभावी मॉनीटरिंग करें

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिया कि जिलों में होम आइसोलेशन के मरीजों की निगरानी के लिए बनाए गए कमांड एवं कंट्रोल सेंटर कोरोना मरीजों की प्रभावी मॉनिटरिंग करें। मरीजों से दिन में कम से कम 2 बार बात की जाए।

हैल्प डेस्क स्थापित करें

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि सभी मेडिकल कॉलेज अपने यहाँ हैल्पडेस्क स्थापित करें तथा कोरोना के संबंध में लोगों की मदद करें। आवश्यकता होने पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मरीज से डॉक्टर की बातचीत भी करवाई जाए। इलाज के लिए टेलीमेडिसिन का भी उपयोग किया जाए।

हर जिले में प्रारंभ करें कोविड केयर सेंटर

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि हर जिले में कोविड केयर सेंटर प्रारंभ किया जाए। जिन जिलों में आवश्यकता है वहाँ विकासखंड और तहसील स्तर पर भी आइसोलेशन सेंटर तथा आवश्यक चिकित्सा सुविधा विकसित की जाएँ।

समय से मिल जाए जाँच रिपोर्ट

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि कोरोना जाँच के पश्चात उसकी रिपोर्ट समय पर मिल जाए यह सुनिश्चित करें। यदि शासकीय लैब में अधिक जाँच आ जाती हैं तो निजी लैब में भी निर्धारित दर पर टेस्टिंग के लिए सैंपल भेजे जाएँ।

टीकाकरण का टारगेट शीघ्र पूर्ण करें

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि सभी जिले को वैक्सीनेशन का दिया गया टारगेट शीघ्र पूर्ण करें।