सीवेज के पानी को बनाएंगे उपयोगी और होगी सिंचाई

रायसेन, 1७ फरवरी। शहर के वार्ड क्रमांक 11,12 एवं 13 के सीवेज के पानी के शुद्धिकरण किए जाने के लिए रायसेन मिश्र तालाब पर करीब डेढ़ करोड़ रूपए लागत से यूरोपियन यूनियन के सहयोग से ट्रिकलिंग फिल्टर प्लांट का काम आगामी मार्च 2018 में पूर्ण होने जा रहा है।
इसी के साथ अब पानी की गुणवत्ता में और अधिक सुधार किए जाने के साथ साथ सीवेज के पानी को सिंचाई के लिए उपयोगी बनाए जाने के लिए सरस्वती द्वितीय चरण के तहत करीब 1 करोड़ रूपए की लागत से अतिरिक्त प्लांट लगाए जाने की योजना पर भी काम तेजी के साथ किया जा रहा है अगर सब कुछ ठीक रहा तो इस योजना पर अमल भी शुरू कर दिया जाएगा और सरस्वती द्वितीय चरण के इस प्रोजेक्ट में करीब 1 करोड़ रूपए की राशि लगेगी जो कि 50 फीसदी राशि आईआईटी मुम्बई एवं 50 फीसदी राशि की मदद बोकू यूनिवर्सिटी वियना ऑस्ट्रिया द्वारा की जाएगी। वहीं सरस्वती द्वितीय चरण के तहत प्लान तैयार किए जाने के लिए प्रयास नगर पालिका रायसेन में तेजी के साथ किए जा रहे है और इस प्लान का सुपर विजन मार्कस स्टॉकल द्वारा किया जा रहा है और साथ ही प्लान बनाने में मदद सुमित क्षेत्री व भोपाल की विनायसा फर्म के संचालक शरद सोनी द्वारा की जा रही है।