बीएसएफ जवान की सैलरी काटने पर मोदी नाराज, सजा वापस लेने को कहा

नई दिल्ली, 8 मार्च। सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के जवान संजीव कुमार द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम के आगे श्री न लगाने पर उसकी सात दिन की सैलरी काट ली गई थी। मामला सुर्खियों में आने के बाद पीएम मोदी ने खुद इस पर संज्ञान लिया है। बीएसएफ ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर इसकी जानकारी दी कि प्रधानमंत्री ने जवान की सैलरी काटने की सजा को रद्द करने का आदेश दिया। साथ ही उन्होंने जवान के खिलाफ सुनाई गई इस फैसले पर नाखुशी जाहिर की।
पीएम मोदी ने जवान की काटी गई सैलरी लौटाने का भी आदेश दिया है। वहीं जिस बटालियन कमांडिंग ऑफिसर ने जवान को यह सजा दी, उनको आगे से ऐसे न्यायपूर्ण रुख नहीं अपनाने की चेतावनी दी गई है।
उल्लेखनीय है कि 21 फरवरी को जीरो परेड के दौरान जवान संजीव कुमार ने ‘मोदी प्रोग्रामÓ शब्द का इस्तेमाल किया था। जवान द्वारा मोदी के नाम के आगे माननीय या श्री शब्दों का इस्तेमाल नहीं करने पर बटालियन के कमांडिंग ऑफिसर अनुप लाल भगत ने नाराजगी जताई। उन्होंने जवान संजीव के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई करने का निर्णय लिया। संजीव के खिलाफ बीएसएफ एक्ट की धारा 40 (व्यवस्था के प्रति पक्षपात और बल का अनुशासन) के तहत दोषी पाया गया जिसके बाद जवान की सात दिन की सैलरी काटने की सजा सुनाई गई।