28 C
Bhopal
Thursday, November 15, 2018
साहित्य

साहित्य

वक्त आने पर फैसले से चौंका सकते हैं नीतीश

बैर के कारण उत्पन्न होने वाली आग एक पक्ष को स्वाहा किए बिना कभी शांत नहीं होती। वेदव्यास राजनीति वर्ष 2017 में तीन घटनाओं का सबसे अधिक...

समाज की मुख्यधारा में शामिल नहीं हैं देश के 9 करोड़ बच्चे

सम्पादकीय कहा जाता है कि शिक्षा किसी भी समाज के विकास का मुख्य आधार होती है, लेकिन भारतीय शासन और सत्ता तंत्र सालों से इस...

राजनीति में अभद्र

सरोकार राजनीति में पक्ष और विपक्ष द्वारा एक-दूसरे पर कटाक्ष किया जाना कोई नई बात नहीं है हां दोनों एक-दूसरे पर कोई कटाक्ष न करे...

हेमंत शिशिर ऋतु आहार, विहार बचाव

सेहत डॉ.अरविन्द जैन मानव शरीर व प्रकृति दोनों में साम्यता हैं। प्रकृति असंतुलित होती हैं तो उसका प्रभाव मानव ,जीव जंतुओं ,आहार ,विहार ,विचार पर पड़ता...

अहं भाव न पालें

एक बार देशभक्त वीर शिवाजी सज्जनगढ़ का किला बनवा रहे थे। हजारों मजदूर वहां काम करते थे। एक दिन शिवाजी किले को देखने गए।...

कुलभूषण जाधव की मुलाकात पर उठते सवाल

सम्पादकीय पाकिस्तान ने जिस तरीके से कुलभूषण जाधव की उनके परिजनों से मुलाकात कराई, उसे लेकर भारत की नाराजगी स्वाभाविक है। इसे लेकर अंतरराष्ट्रीय बिरादरी...

पाक-अफगान : चीन की पटकनी?

सियासत (डॉ. वेदप्रताप वैदिक) चीनी ने भारत को पहले रोहिंग्या-मामले में मात दे दी। वह बर्मा व बांग्लादेश के बीच मध्यस्थ बन बैठा। अब वह भारत...

मध्यप्रदेश में नेतृत्व को लेकर दुविधा की शिकार कांग्रेस

सज्जन पुरुष बिना कहे ही दूसरों की आशा पूरी कर देते हैं जैसे सूर्य स्वयं ही घर-घर जाकर प्रकाश फैला देता है। कालिदास रहीम...

निष्पक्ष चुनाव के लिए ईवीएम को आधार से जोड़ा जाना चाहिए !

डॉ.भरत मिश्र प्राची लोकतांत्रिक प्रक्रिया के तहत सत्ता परिवर्तन के इस दौर में जो दल कभी पीछे चल रहे थे, आज सबसे आगे है, जो...

कठिन काम

एक लड़का महात्मा के पास पहुंचा। लड़का बड़ा शैतान था, उसको देखते ही महात्मा ने भांप लिया। इसलिए मनोवैज्ञानिक ढंग से प्रतिबोध देने के...

Latest Posts