निरंतर जारी रहेगी राष्ट्रीय उद्यानिकी मिशन योजना: चिटनीस

बुरहानपुर, 29 मार्च। प्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनीस ने कहा कि मध्यप्रदेश शासन के द्वारा मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान की भावनाओं के अनुरूप एकीकृत बागवानी विकास मिशन के अंतर्गत राष्ट्रीय उद्यानिकी मिशन योजना को निरंतर रखने हेतु मंत्री-परिषद के द्वारा स्वीकृति प्रदान की गई। इस योजना का बुरहानपुर जिले को विशेष रूप से लाभ प्राप्त होगा।
इस योजनांतर्गत उद्यानिकी फसलों के उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए रोपणियों की स्थापना एवं उनका उन्नयन टिश्यू कल्चर यूनिट की स्थापना सब्जी बीज उत्पादन बीज आधारभूत संरचना का विकास, नये बागानों की स्थापना, जल स्त्रोतों का निर्माण संरक्षित खेती, आईएनएम/आईपीएम का संवर्धन, जैविक खेती, मधुमक्खी पालन के माध्यम से परागण, बागवानी का यांत्रिकीकरण, मानव संसाधन विकास, फसलोत्तर प्रबंधन, बागवानी उत्पादन हेतु विपणन ढांचे की स्थापना, सेमीनार/कार्यशाला आदि के क्रियान्वयन पर अनुदान का प्रावधान किया गया है।
मंत्री ने बताया कि इस योजना से उद्यानिकी फसलों की ओर कृषक न सिर्फ आकर्षित होंगे बल्कि उनकी आर्थिक स्थिति भी सुदृढ़ हो सकेगी। इससे कुशल अकुशल व्यक्तियों विशेषकर बेरोजगार युवाओं के लिए रोजगार के अवसरों का सृजन होगा। साथ ही उद्यानिकी फसलों की खेती करने वाले कृषकों को प्रोत्साहन भी मिलेगा। इस योजनांतर्गत अनुदान न्यूनतम 0.25 हेक्टेयर से अधिकतम 4.00 हेक्टेयर के लिए देय होगा। इस योजना का लाभ प्रथम आओ प्रथम पाओ के आधार पर कृषकों को दिया जाएगा।
इस योजना का लाभ लेने वाले कृषकों को आधार नंबर सहित विभाग के पोर्टल एमपीएफएचटीएस में ऑनलाईन आवेदन करना अनिवार्य होगा। साथ ही इस योजना में अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति वर्ग के कृषकों हेतु विशेष प्रावधान किए गए हैं।
श्रीमती चिटनीस ने बताया कि इस योजना में इकाई लागत का 25 से 50 प्रतिशत तक अनुदान दिया जाएगा। आगामी तीन वर्षों में इस योजनांतर्गत 275 करोड़ रुपए राशि व्यय की जाएगी। यह योजना केन्द्र प्रवर्तित योजना है जो कि 2005-06 में केन्द्र सरकार के द्वारा प्रारंभ की गई थी।